पूर्व सांसद रिजवान जहीर पर कसा शिकंजा, चार करोड़ की संपत्ति कुर्क

बलरामपुर। राजस्व व पुलिस टीम ने गुरुवार को माफिया और पूर्व सांसद रिजवान जहीर की लगभग चार करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति कुर्क की है। उनकी पत्नी सैय्यदा हुमा जहीर के नाम पर बनी अलीशान कोठी को भी जब्त किया गया है। तीन बैंकों के खाते भी सीज किए गए हैं। रिजवान जहीर, उनकी बेटी जेबा व दामाद रमीज पूर्व चेयरमैन फिरोज पप्पू की हत्या की साजिश में जेल में बंद हैं। चार जनवरी 2022 को तुलसीपुर नगर पंचायत के पूर्व चेयरमैन फिरोज पप्पू की हत्या कर दी गई थी। इस हत्या में पूर्व सांसद रिजवान जहीर, बेटी जेबा रिजवान व दामाद रमीज को षड्यंत्र रचने के आरोप में जेल भेजा गया था। बाद में सभी पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की गई थी। अभी किसी को जमानत नहीं मिल सकी है। इधर शासन के निर्देश पर गुरुवार को राजस्व विभाग व पुलिस टीम ने पूर्व सांसद पर शिकंजा और भी कस दिया है। एसडीएम मंगलेश दुबे व सीओ कुंवर प्रभात सिंह सहित छह थानों की पुलिस व एक प्लाटून पीएसी दोपहर लगभग 12 बजे स्थानीय नगर अंतर्गत शीतलापुर स्थित पूर्व सांसद के आवास पर पहुंची। पूर्व सांसद पर एक व्यक्ति ने भूमि पर अवैध कब्जे का आरोप लगा रखा है। एसडीएम ने बताया कि शीतलापुर स्थित गाटा संख्या 295 की 0.162 हेक्टेयर भूमि पूर्व सांसद के नाम दर्ज है, जिसे कुर्क किया गया है। लगभग डेढ़ करोड़ की लागत का अलीशान बंगला पत्नी सैय्यदा हुमा जहीर के नाम पर दर्ज है, जिसे सील कर दिया गया है। उसमें रखे सभी सामान सरकारी कब्जे में है। गाटा संख्या 298 की 1.3 हेक्टेयर जमीन पर सरकार ने कब्जे में लिया है। पुलिस लगभग दो घंटे तक कार्रवाई में जुटी रही।