राज्यसभा चुनाव 2022: चुनाव आयोग ने की बड़ी घोषणा, 10 जून को 57 राज्यसभा सीटों के लिए होंगे चुनाव

नई दिल्ली। भारत के चुनाव आयोग ने गुरुवार को एक?? बड़ी घोषणा की है। आयोग ने कहा कि 15 राज्यों में फैली 57 राज्यसभा सीटों के लिए 10 जून से चुनाव होंगे। उच्च सदन के लिए सीटों का सबसे बड़ा हिस्सा उत्तर प्रदेश का है, जिसमें 11 सीटों पर चुनाव होगा। इसके बाद तमिलनाडु और महाराष्ट्र का नंबर आता है, जहां पर 6-6 सीटों पर चुनाव होंगे, जबकि तीसरे स्थान पर बिहार है, जहां 5 सीटों पर मतदान किया जाएगा। बता दें कि 57 राज्यसभा सीटों में राजस्थान, आंध्रप्रदेश, कर्नाटक की 4-4 सीट पर मतदान किया जाएगा, जबकि मध्यप्रदेश एवं ओडि़शा की 3-3 सीट शामिल होंगी। वहीं हरियाणा, पंजाब, झारखंड, छत्तीसगढ़ एवं तेलंगाना की 2-2 सीट पर चुनाव होगा और अंतिम 1 सीट उत्तराखंड की होगी जिस पर मतदान किया जाएगा। चुनाव आयोग ने गुरुवार को इस बात की पूरे विस्तार से जानकारी दी।
उत्तर प्रदेश की 11 सीटों पर होगा चुनाव
उत्तर प्रदेश राज्य और केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा के उत्तर प्रदेश राज्यसभा की 11 सीटों में से 7 सीटें मिलने की उम्मीद जताई गई है, जबकि दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी के 4 सीटों पर जीत हासिल करने का दावा किया जा रहा है।
यहां बता दें कि सतीश चंद्र मिश्रा की सेवानिवृत्ति (रिटायरमेंट) के साथ, बसपा के पास उच्च सदन में सिर्फ एक सांसद होगा। वहीं जो सदस्य सेवानिवृत्त हो रहे हैं, लेकिन राज्यसभा में वापस लौटेंगे उनमें कई बड़े नाम शामिल है, जिसमें केंद्रीय कर्नाटक की मंत्री निर्मला सीतारमण, झारखंड से मुख्तार अब्बास नकवी और महाराष्ट्र से राज्यसभा में सदन के नेता पीयूष गोयल के नाम हैं वहीं दूसरी तरफ एक अन्य सेवानिवृत्त सदस्य वाइएसआरसीपी संसदीय नेता विजय साई रेड्डी निश्चित रूप से आंध्र प्रदेश से फिर से चुने जाएंगे। बता दें कि आंध्र प्रदेश के दो राज्यसभा सदस्य- पूर्व केंद्रीय मंत्री वाईएस चौधरी और टीजी वेंकटेश, जिन्होंने भाजपा में शामिल होने के लिए तेलुगु देशम पार्टी छोड़ दी, वे भी 21 जून को रिटायर हो रहे हैं। वहीं आंध्र प्रदेश की सभी चार सीटें जो खाली हो रही हैं, उनके वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) में जाने की संभावना जताई जा रही है। इस साल अप्रैल से अगस्त के बीच 77 संसद सदस्य उच्च सदन से सेवानिवृत्त होंगे।