यूपी बोर्ड: इंटरमीडिएट के छूटे परीक्षार्थी दे सकेंगे प्रायोगिक परीक्षा, बोर्ड ने जारी की नई तिथि

गोरखपुर। जिन परीक्षार्थियों की यूपी बोर्ड की इंटर की प्रायोगिक परीक्षा छूट गई थी वह पुन: परीक्षा दे सकेंगे। यूपी बोर्ड ने इसके लिए नई तिथि घोषित कर दी है। परीक्षा 17 से 20 मई के मध्य आयोजित की जाएगी। संबंधित परीक्षार्थी तत्काल अपने विद्यालय के प्रधानाचार्य से संपर्क कर निर्धारित तिथियों के मध्य परीक्षा में सम्मिलित हो सकते हैं। यूपी बोर्ड ने स्पष्ट किया है कि इसके बाद छूटे परीक्षार्थियों को परीक्षा में शामिल होने का कोई और अवसर नहीं दिया जाएगा।
दो चरणों में मंडलवार आयोजित की गई थी प्रायोगिक परीक्षा : यूपी बोर्ड की ओर से 10वीं व 12वीं की प्रायोगिक परीक्षा दो चरणों में मंडलवार आयोजित की गई थी। पहले चरण की प्रायोगिक परीक्षाओं का आयोजन 20 से 27 अप्रैल तक किया गया था। जबकि दूसरे चरण की परीक्षाएं 28 अप्रैल से चार मई तक आयोजित की गईं थीं। गोरखपुर मंडल में दूसरे चरण में परीक्षार्थी इंटर की प्रायोगिक परीक्षा में शामिल हुए थे।
इस वजह से शामिल नहीं हो सके परीक्षार्थी : प्रायोगिक परीक्षा की तिथि घोषित होने के बाद तमाम परीक्षार्थी जानकारी के अभाव में परीक्षा में सम्मिलित नहीं हो सके। इसके बाद दोनों चरणों की परीक्षा संपन्न होने के बाद यूपी बोर्ड ने जिला विद्यालय निरीक्षकों से विद्यालयवार छूटे परीक्षार्थियों का ब्योरा मांगा था।
यूपी बोर्ड के क्षेत्रीय कार्यालय के अपर सचिव विनोद कृष्ण ने बताया कि बोर्ड ने छात्रहित में प्रयोगात्मक परीक्षा से छूटे परीक्षार्थियों को परीक्षा में शामिल होने का एक और मौका दिया है। बोर्ड सचिव के निर्देश के क्रम में परीक्षा संबंधी व परीक्षकों के नियुक्ति पत्र की सूचना विद्यालय के पोर्टल पर अपलोड कर दी गई है। जिला विद्यालय निरीक्षक को भी उनके पोर्टल पर उपलब्ध करा दिया गया है। ऐसे में प्रधानाचार्य 17 से 20 मई के मध्य हर हाल में परीक्षा संपन्न करा लें