पाक में नहीं होंगे ईवीएम से चुनाव

बैठक के बाद लिया गया निर्णय

लंदन, एजेंसी। पाकिस्तान में होने वाले आम चुनाव में इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। मीडिया को संबोधित करते हुए पाकिस्तान के गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह ने कहा कि मौजूदा सरकार ने तय किया है कि पाकिस्तान में होने वाले आम चुनाव में ईवीएम का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। बता दें कि लंदन में प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ और संघीय मंत्रियों की पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मुलाकात हुई थी। यह मुलाकात नवाज शरीफ के बेटे हुसैन नवाज के लंदन स्थित घर पर हुई थी। प्रधानमंत्री और उनके प्रतिनिधिमंडल के नवाज शरीफ से मिलने के लिए लंदन जाने के बाद यह दूसरी मुलाकात थी। गौरतलब है कि इस बैठक के बाद यह फैसला लिया गया है।
बैठक में यह तय किया गया फिलहाल पाकिस्तान के लोगों को आर्थिक राहत प्रदान करना ही मौजूदा सरकार की प्राथमिकता होनी चाहिए। बता दें कि इससे पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ लगातार इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों पर सवाल उठा चुके हैं।
छह घंटे लंबी चली बैठक: सूत्रों का हवाला से बताया कि छह घंटे चली लंबी बैठक के दौरान प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ, उनके भाई और पार्टी सुप्रीमो नवाज शरीफ और ख्वाजा आसिफ, मिफ्ता इस्माइल, मरियम औरंगजेब, अट्टा तरार, राणा सनाउल्लाह, इशाक डार, अयाज सादिक सहित अन्य नेता मौजूद थे। बता दें बैठक की जगह को गुप्त रखा गया है।
इमरान खान कराना चाहते हैं जल्द चुनाव: उल्लेखनीय है कि पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान लगातार देश में जल्द से जल्द आम चुनाव कराने की मांग कर रहे हैं। बताते चलें कि शहबाज शरीफ अपने भाई नवाज शरीफ से मिलने लंदन पहुंचे थे। भ्रष्टाचार के एक मामले में दोषी ठहराए गए नवाज शरीफ साल 2019 से खराब स्वास्थ्य के बहाने लंदन में रह रहे हैं।
नवाज के मुताबिक, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सरकार ने पाकिस्तान को गहरे आर्थिक संकट में छोड़ दिया है। पिछले महीने नवाज ने पीपीपी अध्यक्ष बिलावल भुट्टो-जरदारी से भी मुलाकात की थी, जिन्हें बाद में पाकिस्तान का विदेश मंत्री नियुक्त किया गया है।