आपकी नौकरी तो पहले से तय, मन लगाकर खूब पढ़िए : मुख्य सचिव

गुरु श्री गोरक्षनाथ कॉलेज ऑफ नर्सिंग का भ्रमण-निरीक्षण किया मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा ने

 

व्यवस्थाओं को देख, रोजगारपरक पाठ्यक्रमों को जानकर अभिभूत हुए मुख्य सचिव

 

गोरखपुर। प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा ने गुरुवार को महायोगी गोरखनाथ विश्वविद्यालय, आरोग्यधाम की संस्था गुरु श्री गोरक्षनाथ कॉलेज ऑफ नर्सिंग का भ्रमण-निरीक्षण किया। इस दौरान यहां की व्यवस्थाओं को देखकर और रोजगारपरक पाठ्यक्रमों को जानकर वह अभिभूत हो गए। उन्होंने नर्सिंग प्रशिक्षुओं से संवाद किया और कहा कि समाज की स्वास्थ्य सेवा के लिए इस संस्थान का सानिध्य पाना सौभाग्य की बात है।
मुख्य सचिव श्री मिश्रा के गुरु श्री गोरखनाथ कॉलेज ऑफ नर्सिंग पहुंचने पर महायोगी गोरखनाथ विश्वविद्यालय के कुलपति मेजर जनरल डॉ. अतुल वाजपेयी, कुलसचिव डॉ. प्रदीप राव, नर्सिंग कॉलेज की प्राचार्या डॉ. डी. अजीथा ने उनका स्वागत किया। मुख्य सचिव ने कहा कि गोरखपुर आने पर उनकी इच्छा इस संस्थान का भ्रमण करने की हुई। उन्होंने नर्सिंग कॉलेज में क्लास रूम, लैब, मेडिकल डेमोंस्ट्रेशन रूम आदि का जायजा लिया। साफ-सफाई और हरेक पहलू का सुव्यवस्थित प्रबंधन देखकर उन्होंने बेहद प्रसन्नता जताई। कहा कि इस संस्थान के बारे में जितना सुना था, उससे बढ़कर पाया।

 

इस अवसर पर नर्सिंग प्रशिक्षुओं से संवाद करते हुए उन्होंने उनके पठन व प्रशिक्षण के बारे में जानकारी ली। नर्सिंग कॉलेज की प्राचार्या डॉ. डी. अजीथा ने मुख्य सचिव को कॉलेज में चल रहे विभिन्न नर्सिंग पाठ्यक्रमों की जानकारी देते हुए बताया कि यहां पूर्वी उत्तर प्रदेश के साथ ही बाहर से भी कई छात्राएं प्रशिक्षणरत हैं। सभी सीटें फूल रहती हैं। कोर्स पूरा होते भी शत प्रतिशत प्लेसमेंट सुनिश्चित होता है। इस पर मुख्य सचिव ने खुशी व्यक्त करते हुए प्रशिक्षुओं से कहा कि आप सबकी नौकरी तो अभी से तय है, खूब मन लगाकर पढ़िए।
इस अवसर पर महायोगी गोरखनाथ विश्वविद्यालय के कुलपति मेजर जनरल डॉ. अतुल वाजपेयी ने मुख्य सचिव को बताया कि इस विश्वविद्यालय में 22 ऐसे पाठ्यक्रमों को शुरू किया गया है जिनकी पढ़ाई पूर्ण होते ही 100 परसेंट प्लेसमेंट तय है। नर्सिंग के कोर्स पहले से चलते हैं, बीएएमएस प्रथम बैच की पढ़ाई शुरू भव्य दीक्षा पाठ्यचर्या के साथ शुरू हो गई है। अन्य पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्रक्रिया भी प्रारंभ हो चुकी है। रोजगारपरक पाठ्यक्रमों के बारे में जानकर मुख्य सचिव ने प्रसन्नता जताई और कहा कि अद्यानुतन टेक्नोलॉजी के साथ समयानुकूल पाठ्यक्रमों का संचालन बहुत सराहनीय कार्य है।