देश की जनता भाजपा को बहुत विश्वास से देख रही: पीएम

नई दिल्ली। भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में पीएम मोदी का संबोधन हो रहा है। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि आज देश का हर नागरिक नतीजा चाहता है, नागरिकों में आकांक्षाएं बढ़ी हैं। जब देश के 130 करोड़ लोगों की आकांक्षाएं जग जाती है तो निश्चित रूप से सरकारों की जवाबदेही भी बढ़ती है। ये जन जागृति अनिवार्य रूप से कार्य करने के लिए प्रेरित करती है और दबाव भी बनाती है।
राजस्थान के जयपुर में भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक चल रही है। बैठक के दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के नेताओं को वर्चुअली संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया आज भारत को बहुत उम्मीदों से देख रही है। ठीक वैसे ही भारत में भाजपा के प्रति, जनता का एक विशेष स्नेह है। देश की जनता भाजपा को बहुत विश्वास से, बहुत उम्मीद से देख रही है। पीएम मोदी ने कहा, जनसंघ से लेकर हमारी जो यात्रा शुरु हुई और भाजपा के रूप में फली-फूली, पार्टी के इस स्वरूप को, उसके विस्तार को देखते हैं, तो गर्व तो होता ही है, लेकिन इसके निर्माण में खुद को खपाने वाली पार्टी की सभी विभूतियों को मैं आज नमन करता हूं।
पीएम मोदी ने कहा कि हमें अगर सत्ताभोग ही करना होता तो भारत जैसे विशाल देश में कोई भी सोच सकता है कि इतना सारा मिल गया अब तो बैठो…लेकिन हमें ये रास्ता मंजूर नहीं है। हमारा मूल लक्ष्य भारत को उस ऊंचाई पर पहुंचाना है जिसका सपना देश की आजादी के लिए मर मिटने वालों ने देखा था। भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक गुरुवार को राष्ट्रीय महासचिवों की बैठक के साथ शुरू हुई। बैठक से पहले भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कुशाभाऊ ठाकरे और सुंदर सिंह भंडारी के जीवन पर आधारित प्रदर्शनी का अवलोकन किया।
राजस्थान सहित देश के विभिन्न राज्यों में आगामी दिनों में होने वाले विधानसभा चुनावों की तैयारियों को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक 19 से 21 मई तक जयपुर में चल रही है । दिल्ली रोड स्थित एक होटल में आयोजित बैठक में 136 नेता शामिल हैं । भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में उपाध्यक्ष, महामंत्री, कोषाध्यक्ष, संगठन मंत्री और सभी मोर्चों के अध्यक्ष शामिल हैं । भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री भी बैठक में मौजूद हैं।
हम देख रहे हैं कि कुछ दल ऐसे हैं जिनका पारिस्थितिकी तंत्र महत्वपूर्ण और जरुरी मुद्दों से देश का ध्यान भटकाने में पूरी तरह से लगा हुआ है। हमें इसमें नहीं फंसना चाहिए और इनसे सावधान रहना चाहिए।
जनसंघ के समय में हम हाशिये पर थे, हमें कोई नहीं जानता था। इसके बावजूद हमारे कार्यकर्ताओं ने राष्ट्र निर्माण की नीतियों का पालन किया। हम सत्ता हासिल करने से मीलों दूर थे लेकिन फिर भी हमारे छोटे से छोटे कार्यकर्ता देशभक्त बने रहे। हर दल को विकासवाद की राजनीति पर आने पर मजबूर करना है।
चुनाव के समय हम जैसे हर घर, हर बूथ तक पहुंचते हैं वैसे ही नागरिकों के घर-घर तक जाना है…हर घर भाजपा, इसी लगन के साथ काम करना होगा। देश में विकासवाद की राजनीति पर हमें हर दिशा में काम करना है। हर दल को विकासवाद की राजनीति पर आने पर मजबूर करना है। हर घर भाजपा, इसी लगन के साथ करना होगा काम।
चुनाव के समय हम जैसे हर घर, हर बूथ तक पहुंचते हैं वैसे ही नागरिकों के घर-घर तक जाना है…हर घर भाजपा, इसी लगन के साथ काम करना होगा। देश में विकासवाद की राजनीति पर हमें हर दिशा में काम करना है।