मनी लान्ड्रिंग मामले में फारूक अब्दुल्ला को ईडी का समन

 

नई दिल्ली। नेशनल कान्फ्रेंस के वरिष्ठ नेता फारूक अब्दुल्ला की मुश्किलें जल्द बढ़ सकती हैं। प्रवर्तन निदेशालय (इडी) ने नेशनल कान्फ्रेंस नेता को आज समन जारी किया है। अब्दुल्ला को 31 मई को दिल्ली के मुख्यालय में जांचकर्ताओं के सामने पेश होने के लिए कहा गया है। ईडी ने अब्दुल्ला को मनी लान्ड्रिंग मामले में पूछताछ के लिए तलब किया है।
जानकारी के अनुसार यह पूछताछ जम्मू-कश्मीर क्रिकेट संघ (जेकेसीए) में कथित वित्तीय अनियमितताओं के एक मामले के संबंध में बताई जा रही है, जिसकी जांच ईडी कर रही है। फारूक को धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत यहां मुख्यालय में 31 मई को पेश होने के लिए समन जारी किया गया है।
11.86 करोड़ की संपत्ति हो चुकी कुर्क: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 2020 में इस मामले में अब्दुल्ला की 11.86 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की थी। 84 वर्षीय नेकां नेता से ईडी इस मामले में कई बार पूछताछ कर चुकी है। ईडी ने आरोप लगाया था कि अब्दुल्ला ने अतीत में जेकेसीए के अध्यक्ष के रूप में अपने पद का दुरुपयोग किया और खेल निकाय में नियुक्तियां कीं ताकि बीसीसीआई प्रायोजित धन का दुरुपयोग किया जा सके।