सिरफिरे ने सिपाही पर बांकी से किया प्रहार

कुशीनगर। जिले के खड्डा कस्बे के नेहरुनगर मोहल्ले में बन रहे तहसील भवन में सुल्तानपुर से काम करने आए एक सिरफिरे ने खड्डा सीओ के यहां पुलिस लाइन से बयान दर्ज कराने आए एक सिपाही पर बांकी से हमला कर दिया। सिपाही गंभीर रूप से घायल हो गया है। सूचना पर सिरफिरे को पकडऩे पहुंचा थाने को सिपाही भी जख्मी हो गया है। हालांकि बाद में पुलिस ने सिरफिरे को गिरफ्तार कर लिया है। उसके साथी की तलाश की जा रही है। दोनों से सिपाही की सुभाषचौक के समीप मामूली बात को लेकर हुई कहासुनी हुई थी। इसी के बाद हमला किया था।
खड्डा में तहसील भवन का निर्माण कार्य चल रहा है। इसी निर्माण कार्य में सुल्तानपुर जिले के थाना कूडेभार ग्राम धर्मदासपुर निवासी रजनू अंसारी पुत्र जैसू उम्र 30 वर्ष किसी ठेकेदार के साथ दो माह पूर्व मजदूरी का कार्य करने आया था। अपने साथी के साथ सुभाष चौक के समीप स्थित शराब की दुकान पर शराब पी। उसके बाद वह भ_ी के सामने ठेले पर लगे खरबूजा की दुकान पर जाकर खड़ा हो गया। इसी दौरान पुलिस लाइन से खड्डा सीओ के यहां बयान दर्ज कराने आए गाजीपुर निवासी सिपाही मासूम अली उम्र 28 वर्ष भी वहां पहुंच गए।
जानकारी के मुताबिक जहां सिपाही ने शराब के नशे में खड़े मजदूर रजनू को किनारे हटने को कहा तो सिरफिरे रजनू ने आव ना देख ताव और कमरे से बांकी निकाल लाया। इसके बाद सिपाही की गर्दन पर वार कर दिया, जिससे सिपाही जख्मी होकर जमीन गिर पडा। उसने जान से मारने के नियत से दो बार और उसके गर्दन पर वार कर किया। इसके बाद वह धारदार हथियार लहराने लगा। इसी बीच उधर से गुजर रहे खड्डा थाने के दूसरे सिपाही प्रेम नारायण वर्मा जब उसको पकडऩे के लिए आगे बढ़े तो वह उन पर भी हमलावर हो गया। हमले में सिपाही जख्मी हो गया, लेकिन सिरफिरे को पकड़ लिया गया, हालांकि साथी भागने में सफल रहा। इसके बाद सिपाही को एक राहगीर प्रभात तिवारी ने सीएचसी तुर्कहा में भर्ती कराया। मामले की जानकारी होते ही इंस्पेक्टर पुलिस फोर्स के साथ अस्पताल पहुंचे।