अपने गांव परौंख में राष्ट्रपति कोविंद का हुआ जोरदार स्वागत, पीएम मोदी-सीएम योगी भी मौजूद

 

कानपुर देहात। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद कानपुर देहात स्थित अपने गांव परौंख पहुंच चुके हैं। गांव में उनका भव्य स्वागत हुआ। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गांव पहुंचकर सबसे पहले पथरी देवी मंदिर में माथा टेका। राष्ट्रपति के साथ उनकी पत्नी सविता कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दर्शन किए। राष्ट्रपति बनने के बाद अपने गांव का यह उनका दूसरा दौरा है।
राष्ट्रपति ने अतिथि देवो भवों के संस्कार का उत्तम उदाहरण पेश किया: मोदी
आज हेलीपैड पर खुद राष्ट्रपति जी मेरी आगवानी करने पहुंचे थे। उन्हें देखकर मैं चौंक गया। जिनकी अगवानी में हम काम कर रहे हैं, उनके आने पर मैंने पूछा भी आप क्यों आए हैं। उन्होंने बताया कि आज मैं राष्ट्रपति नहीं इस गांव के एक नागरिक के रूप में आपका स्वागत करने आया हूं। राष्ट्रपति का यह कहना अतिथिदेवो भवों के संस्कार का उत्तर उदाहरण है।
परौंख में देवभक्ति भी और देशभक्ति भी: मोदी
पीएम मोदी ने कहा कि यहां देवभक्ति भी है और देशभक्ति भी है। राष्ट्रपति के पिताजी की भक्ति को प्रणाम करता हूं। वह तीर्थाटन के लिए समय समय पर निकल जाते थे। उस समय भी उनकी आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं थी कि जगह जगह जा सकें। जहां भी जाते थे वहां से कुछ पत्थर ले आते थे। और उन पत्थरों को यहां रख देते थे। उन पवित्र पत्थरों को गांव वाले पूजते थे।
प्रधानमंत्री ने कहा कि राष्ट्रपति ने जब यहां आने को कहा था, तभी से इंतजार कर रहा था। यहां आकर मन को सुकून मिला। इस गांव ने राष्ट्रपति का बचपन भी देखा है और उनके गौरव को भी देखा है। उन्होंने यहां की कई यादें मुझसे साझा की। यहां जब पांचवीं के बाद उनका दाखिला पांच मील दूर हो गया था तो दौड़ते हुए जाते थे। यह दौड़ कोई रेस नहीं होती थी, बल्कि तपती दुपहरी में पैर जलने के कारण नंगे पांव अपने स्कूल दौड़ते हुए जाते थे। आज का दिन सुखद स्मृति की तरह है।
परौंख गांव में राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री दोनों का एक साथ आगमन सौभाग्य
आज परौंख देश का अकेला ऐसा गांव बन गया है जहां राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री दोनों एक साथ पहुंचे हैं। दोनों का एक साथ आना सौभाग्य की बात है। राष्ट्रपति का यह गांव वैसे पहले से ही प्रेरणा बन चुका है। राष्ट्रपति के गांव परौंख में उनका हृदय से स्वागत करता हूं।

परौंखा गांव में राष्ट्रपति का स्वागत, पीएम मोदी और सीएम योगी भी हैं मौजूद
परौंख गांव पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बाबा साहब अम्बेडकर की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए। उनके साथ पीएम मोदी भी मौजूद रहे। इसके बाद राष्ट्रपति परौख गांव में आयोजित जनसभा के मंच पर पहुंचे। मेरा गांव मेरी धरोहर अभियान के तहत आयोजित इस कार्यक्रम में पीएम मोदी, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और सीएम योगी आदित्यनाथ भी मौजूद हैं। मंच पर सबसे पहले सभी हस्तियों का सम्मान किया गया।
राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परौख गांव के मिलन केंद्र का दौरा किया। इस दौरान राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी मौजूद रहीं। 25 जुलाई 2017 को राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद रामनाथ कोविंद बीते वर्ष प्रेसीडेंशियल ट्रेन से यहां पहुंचे थे। 25 जून को उनकी ट्रेन झींझक और रूरा रेलवे स्टेशनों पर रुकी थी। दोनों ही स्टेशनों पर उन्होंने प्लेटफार्म पर आयोजित कार्यक्रमों में लोगों को संबोधित किया था। इसके बाद वह कानपुर नगर से 27 जून को अपनी मातृभूमि पर पहुंचे थे। करीब डेढ़ घंटे का समय उन्होंने परौंख में बिताया था। तब वह पथरी माता मंदिर, आंबेडकर पार्क, मिलन केन्द्र के साथ झलकारी बाई इंटर कॉलेज गए थे। उन्होंने सभा को संबोधित करते हुए गांव के लोगों से अगले साल फिर गांव आने का वादा किया था। वह गांव के कई लोगों से मिले थे। एक साल होने से पहले ही वह शुक्रवार को फिर गांव पहुंचे। उनके स्?वागत के लिए पूरा गांव दुल्हन की तरह सजाया गया है।