घर का नाम बदलने से नहीं होता लोक कल्याण

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने 2021-22 के लिए कर्मचारी भविष्य निधि जमा (ईपीएफओ) पर ब्याज दर में कटौती की घोषणा की है। अब सिर्फ 8.1 प्रतिशत ब्याज दर से रिटर्न मिलेगा। कल केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने इसकी मंजूरी दी है। बता दें कि पिछले वर्ष यह दर 8.5 प्रतिशत था। 1977-78 के बाद से कर्मचारियों द्वारा अपने रिटायरमेंट फंड में जमा की गई यह सबसे कम ब्याज दर है। उस वर्ष कर्मचारी भविष्य निधि पर ब्याज दर 8त्न थी। कांग्रेस पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने सरकार के इस फैसले के खिलाफ मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने लिखा, घर का पता लोक कल्याण मार्ग रख लेने से लोगों का कल्याण नहीं होता। प्रधानमंत्री ने साढ़े 6 करोड़ कर्मचारियों के वर्तमान और उनके भविष्य को बर्बाद करने के लिए महंगाई बढ़ाओ, कमाई घटाओ मॉडल को लागू किया है।