कानपुर हिंसा: कैसे भडक़ी हिंसा, सामने आई पहली फुटेज

कानपुर। कानपुर के बेकनगंज में हुई हिंसा से जुड़ा एक नया सीसी टीवी फुटेज सामने आया है। 5 मिनट 39 सेकंड के इस फुटेज में लोग पत्थरबाजी करते नजर आ रहे हैं। पुलिस इस वीडियो में दिख रहे लोगों की पहचान करने में जुटी है। पुलिस कमिश्नर विजय मीणा ने कहा है कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
वीडियो के शुरुआती 15 सेकंड में भीड़ चौराहे पर इक_ा होती नजर आ रही है। इसमें से दो लडक़े हाथों में पत्थर लेकर फेंकते हैं और फिर से पीछे जाकर छिप जाते हैं। कुछ और लडक़े दोबारा हाथों में पत्थर लेकर दूसरे पक्ष की तरफ फेंकते हैं। सडक़ पर पहले से ही कुछ पत्थर पड़े हुए थे। पुलिस ने भीड़ को पीछे करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। भीड़ पीछे हटने के बजाय और आगे बढऩे लगी। जिस जगह पर आंसू गैस के गोले आकर गिर रहे थे उससे 5 मीटर दूर लडक़े पत्थर उठाकर पुलिस की तरफ फेंक रहे थे।
उत्पाती भीड़ ने पान की दुकान लूट ली
उपद्रव के बीच लोग अपनी-अपनी दुकानें बंद करके भागने लग गए। वीडियो में दिख रहा है कि सडक़ किनारे पान की एक दुकान थी, जिसका मालिक भी दुकान छोडक़र चला गया। भीड़ ने उस दुकान को पूरी तरह से तोडऩे के बाद उसके सामान को सडक़ पर फेंका और कुछ अपनी जेब में भर लिया।
देखते ही देखते उपद्रवियों की संख्या 100 के पार पहुंच गई। पत्थर लेकर वह आगे बढऩे लगे तो पुलिस पीछे होने लगी। उपद्रवियों ने बंद पड़ी दुकानों के शटर पर पत्थर चलाना शुरू कर दिया। उनमें से कुछ ने घरों को निशाना बनाकर उस पर पत्थर फेंकना शुरू कर दिया।
पुलिस कमिश्नर ने कहा-फुटेज के आधार पर कार्रवाई करेंगे
कानपुर पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीणा ने बताया कि उपद्रवियों के खिलाफ धार्मिक उन्माद फैलाने, बलवा, जानलेवा हमला करने, हिंसा फैलाने जैसी धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है। उपद्रवियों की पहचान के लिए वायरल वीडियो और सीसी टीवी फुटेज की मदद ली जा रही।