यूपी विधानसभा में राष्ट्रपति बोले-विधानमंडल लोकतंत्र का मंदिर है और आप जनता के भाग्य विधाता

लखनऊ। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सोमवार को विधानमंडल के दोनो सदनोको संबोधित करते हुए जनप्रतिनिधियों को बिना भेदभाव के सबके लिये काम करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि जिन्होंने आपको वोट दिया है, और जिन्होंने वोट नहीं दिया है, आपको सबके लिए काम करना है। उन्होंने कहा कि वैचारिक मतभेद हो सकते हैं, लेकिन आपस में वैमनस्यता नहीं होनी चाहिये।
अपनी हाल की वाराणसी यात्रा की चर्चा करते हुए कहा कि वहां के काशी विश्वनाथ मंदिर व गलियारे भव्य हो गए हैं। इस तरह प्रधानमंत्री मोदी व मुख्यमंत्री योगी ने महात्मा गांधी के उस असन्तोष को दूर कर दिया जो उन्होंने अपनी काशी यात्रा के दौरान मंदिर की तंग गलियों व गंदगी देख जाहिर किया था।
उन्होंने विधानमंडल के दोनों सदनों में महिलाओं की कम संख्या पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि यह संख्या बढ़ाया जाना चाहिये। 24 मिनट के संबोधन में राष्ट्रपति ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को याद किया।