बिहार में भारत बंद का मिला जुला असर, रेलवे स्टेशनों और चौराहों पर सुरक्षाबल तैनात

 

नई दिल्ली। सेना भर्ती के लिए लाई गई अग्निपथ योजना के विरोध में सोमवार को भारत बंद का ऐलान किया गया है। राज्य में भारत बंद का मिला जुला असर देखने को मिल रहा है। सभी स्टेशनों और शहरों के प्रमुख चौक-चौराहों पर सुरक्षाबल तैनात किए गए हैं। आरा जंक्शन रेलवे स्टेशन पर सन्नाटा है। पूर्णिया में भारत बंद बेअसर है। यहां बसें चालू हैं और कॉलेज खुले हैं। बिहार में एहतियातन 350 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। 20 जिलों में इंटरनेट पर रोक है। पटना में सभी निजी स्कूल बंद रहेंगे। अन्य जिलों में भी स्कूलों में गर्मी की छुट्टियां बढ़ा दी गई हैं। 11 जिलों के बीजेपी दफ्तरों की सुरक्षा में एसएसबी के जवान तैनात किए गए हैं। पूर्णिया में भारत बंद का आंशिक असर दिख रहा है। बाजार, दुकान, दफ्तर पहले की तरह खुले हैं। चौक-चौराहे पर पुलिस की टीम मुस्तैद है। एनएच पर पुलिस गस्त कर रही हैं। हालांकि, बंद के कारण स्नातक पार्ट वन की परीक्षा कर स्थगित कर दी गयी है। पॉलीटेक्निक, इंजीनियर कॉलेज समेत अन्य महाविद्यालय खुले हैं। जिला अल्पसंख्यक कल्याण कार्यालय के द्वारा आवेदकों का आज होने वाला साक्षात्कार भी स्थगित कर दिया गया है। भारत बंद को लेकर कटिहार शहर और रेलवे स्टेशन के विभिन्न प्लेटफार्म पर फ्लैग मार्च निकाला गया। एक मार्च शहीद चौक से निकलकर बाटा चौक संतोषी चौक, ड्राइवर टोला, पुराना स्टेशन बिल्डिंग से होते हुए कटिहार रेलवे जंक्शन के विभिन्न प्लेटफार्म पहुंच कर शांतिपूर्ण माहौल में यात्रा करने की अपील लोगों से की गई। फ्लैग मार्च रेलवे स्टेशन के बाद जीआरपी चौक सहित चौक होते हुए एमजी रोड और बी एस कॉलेज तक पहुंचे और इसके बाद नगर थाना लौट गया। शहर का पूरा माहौल शांतिपूर्ण है और आवागमन बहाल है। ट्रक ऑटो और अन्य मालवाहक वाहनों का भी आवागमन सडक़ों पर दिख रहा है।