तेज-तेजस्वी ने बहनों से बंधवाई राखियां: तेजस्वी ने मीसा भारती से लिया आशीर्वाद, शाम में सोनिया गांधी से मिलेंगे, बनेगी आगे की रणनीति

पटना (बिहार)। लालू प्रसाद के दोनों बेटों तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव ने सोशल मीडिया पर बहनों से राखी बंधवाते हुए फोटो पोस्ट किया है। तेजस्वी यादव अपनी बड़ी बहन और राज्य सभा सदस्य मीसा भारती से पैर छूकर आशीर्वाद लेते हुए भी दिख रहे हैं। एक फोटो में तेजस्वी यादव की पत्नी राजश्री यादव भी अपने ननदों के साथ दिख रही हैं। तेजस्वी यादव अपनी पत्नी राजश्री के साथ दिल्ली गए हुए हैं। वहां उन्होंने रक्षा बंधन का पर्व मनाया और लालू प्रसाद से जरूरी राजनीतिक मंत्रणा भी की।
जानकारी है कि शुक्रवार की शाम साढ़े पांच बजे सोनिया गांधी के साथ तेजस्वी सहित कांग्रेस के नेताओं की मुलाकात होगी। भाजपा को बिहार में सत्ता से बेदखल करने के साथ ही मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री पद की शपथ के बाद आगे की रणनीति तय की जाएगी।
तेजस्वी-तेजप्रताप ने रक्षाबंधन पर क्या लिखा
रक्षा बंधन के अवसर पर तेजप्रताप यादव ने लिखा है -खुशनसीब होती हैं वो बहनें जिन्हें उनकी रक्षा करने वाला भाई मिलता है। तेजस्वी यादव ने लिखा है – भाई-बहन के अटूट प्रेम और अखंड विश्वास के पवित्र पर्व रक्षा बंधन की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं। आइए इस पावन पर्व पर हम सभी बहनों, बेटियों और माता तुल्य महिलाओं के सम्मान और सुरक्षाा का संकल्प ले। सोशल एक्टिविस्ट और राजद नेत्री रितु जायसवाल ने भी एक दिन पहले पटना में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को राखी बांधी थी और लिखा था- ये प्रेम, सम्मान और विश्वास का धागा है जिसे मैंने आपकी कलाई पर बांधा है। इस पल को मैं आजीवन सहेज कर रखूंगी। राजद की एक कार्यकर्ता होने के साथ-साथ आपकी धर्म बहन के रुप में बिहार के बेहतर भविष्य के लिए आपके मजबूत इरादों के साथ पूरी निष्ठा के साथ खड़ी रहूंगी।
तेजस्वी और तेजप्रताप की विदेश में रहने वाली बहन रोहिणी आचार्या ने एक दिन पहले ट्वीट कर लिखा था -इस रक्षा बंधन मिली है मुझे खुशियों की सौगात, भाई को मिला बिहार की सत्ता का ताज।
जानकारी है कि तेजस्वी यादव राजद कोटे से मंत्री बनने वाले नेताओं की लिस्ट लालू प्रसाद के साथ मंत्रणा कर फाइनल करेंगे। इसमें सोशल इंजीनीयिरिंग और राजद के प्रति आस्था को खास तरजीह दी जाएगी। विधान सभा अध्यक्ष और विधान परिषद सभापति को लेकर भी लालू प्रसाद से वे बातचीत करेंगे। उनकी नजर कांग्रेस की तरफ भी है कि कांग्रेस किेसे मंत्री बनाना चाहती है। चूंकि सोनिया गांधी और लालू प्रसाद के बीच राजनीतिक रिश्ते काफी बेहतर हैं इसलिए बातचीत के जरिए मंत्री पद को फाइनल किया जाएगा।
कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी भक्त चरण दास भी दिल्ली रवाना हो चुके हैं। जानकारी है कि शुक्रवार को शाम साढ़े पांच बजे सोनिया गांधी के साथ तेजस्वी यादव और कांग्रेस के नेताओं के साथ बैठक होगी। बता दें कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अनिल शर्मा ने एक दिन पहले मांग की थी कि आंध्र प्रदेश की तर्ज पर बिहार में भी सोशल इंजीनियरिंग का ध्यान रखते हुए पांच उपमुख्यमंत्री बनाए जाए।