गोरखनाथ मंदिर में टहलने गए व्यक्ति से जालसाजी:काम दिलाने के नाम पर 90 हजार लिए

Listen to this article

 

गोरखपुर। गोरखाथ मंदिर में टहलने के दौरान मुलाकात के बाद जालसाज ने ठेका दिलाने के नाम पर 90 हजार रुपये की जालसाजी कर ली। इतना ही नहीं रुपये मांगने पर उसने जान से मारने की धमकी देते हुए एक लाख रुपये और मांगा। पीड़ित ने घटना की शिकायत पुलिस से की। गोरखनाथ पुलिस ने भय दिखाकर वसूली करने और अमानत में खयानत की धाराओं में केस दर्ज कर आरोपी अजीत मिश्रा को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया।
आरोपी अजीत गोरखनाथ इलाके में किराये के मकान रहता है और मूलरुप से महराजगंज का निवासी है। पीड़ित तारामंडल निवासी मनीष सिंह ने दिए तहरीर में लिखा है कि नगर पंचायत बांसगांव का मूलनिवासी है। आठ महीने पहले गोरखनाथ मंदिर दर्शन करने के दौरान उसकी मुलाकात महराजगंज के अजीत मिश्रा से हुई थी। मंदिर में मुलाकात के दौरान बातचीत औपचारिक होने लगी। इस दौरान उन्होंने पूछा था कि आप क्या करते है, इस पर सरकारी ठेकेदारी की बात बताई थी। उन्होंने सरकार में पकड़ होने का हवाला देते हुए मुझे लखनऊ में बुलाया। लखनऊ में एक विधायल आवास पर बुलाने के बाद पीडब्लूडी के एक्सीयन से मिलवाए और कार्य दिलाने के नाम पर 90 हजार रुपये की मांग किए। तीन बाद में मैंने 90 हजार रुपये दे दिए और उसके बाद भी काम नहीं मिला। काम नहीं मिलने पर रुपये वापस मांगने लगा तो बोले कि एक लाख और दो, नहीं तो हत्या करवा दूूंगा। पुलिस ने इसी तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर लिया है। इंस्पेक्टर गोरखनाथ दुर्गेश सिंह ने बताया कि आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है।