नाविक ने बताया खोराबार पुलिस की बर्बरता की कहानी: बेल्ट पीटने का आरोप, ssb जवान ने दर्ज कराया है नाविक पर मारपीट का आरोप

Listen to this article

 

गोराखपुर। खोराबार के कुसम्ही जंगल स्थित बुढ़िया माता मंदिर में नाव चलाने वाले नाविक से ssb जवान के संग हुए मारपीट का मामला बुधवार को तूल पकड़ लिया। नाविक का आरोप है कि किराया मांगने को लेकर पहले ssb जवान ने खुद उसे मारापीटा फिर तहरीर देकर थाने पर उसे बेल्ट से पिटवाया गया। पुलिस ने दर्ज मुकदमे में जेल न भेजकर 151 में उसका चालान कर दिया। जबकि नाविक की तहरीर पर खोराबार थानेदार ने कोई कार्यवई नही की।

जानकारी के अनुसार खोराबार थाना क्षेत्र के बुढ़िया माता मंदिर पर मंगलवार को अपने परिवार व भाई संघ आए एसएसबी के जवान सर्वेश त्रिपाठी निवासी गहासाड व उनके भाई अंकित त्रिपाठी, अपने परिवार और अपने साथियों सुभम उपाध्याय निवासी भरवाल सहजनवा, आदित्य दुबे पुत्र आत्माराम दूबे निवासी मटका पार सहजनवा के संग बुढ़िया माता मंदिर दर्शन को गए थे। नए मंदिर का दर्शन करने के बाद वे नाव से नदी उसपार पुराने मंदिर गए थे। एसएसबी जवान का आरोप है कि 50 रुपये किराया उन्होंने दे दिया था। वापस आने पर भी नाविक किराया मांगने लगा। जिस बात को लेकर दोनो में झगड़ा हो गया। नाविक ने अपने साथियों के9 बल लाया और उनकी पिटाई कर दी । ssb जवान के सूचना पर पहुची पुलिस आरोपी नाविक व उसके 4 साथियों को थाने लायी। जवाब की तहरीर पर नाविक के खिलाफ 323, 504 और 506 में केस दर्ज किया। बाद में चारो को 151 में चलान कर दिया।

 

खोराबार के थानेदार पर बेल्ट से पिटाई का आरोप

नाव चला रहे मजदूर सुनील निषाद पुत्र चंद्रभान निवासी रुद्रापुर थाना खोराबार ने मंगलवार को ही एसएसबी जवान के खिलाफ तहरीर दी थी। आरोप है कि पुलिस ने उसकी तहरीर पर कोई कार्यवई नही की। जबकि जवान व उसके साथियों ने उसे भी पिता था।

आरोप है कि एसएसबी जवान के कहने पर थाने में उसकी बेल्ट से जमकर पीटा जिससे उसके शरीर पर कालिख जम गई है। पीड़ित के अनुसार रात बारह बजे एसएसबी के जवान के कहने पर थानेदार ने घंटो लात घुसा लाठी डंडा व बेल्ट से पीटते रहें मै चिलाता रहा साहब मेरा कसूर क्या है मगर वह नही रुक रहे थे। वहीं खोराबार पुलिस ने एक तरफा कार्यवाही करते हुए युवक पर मुकदमा भी लिख दिया। जिसको लेकर मंदिर संचालकों में काफी गुस्सा है और आज बुढ़िया माता मंदिर परिसर में इसको ले कर एक बैठक हुआ जिसमे एसएस बी जवान पर कार्यवाही करने व दोशी थानेदार पर भी कार्यवाही करने की मांग की गई। यदि ऐसा नहीं हुआ तो मंदिर को अनिश्चित काल के लिए बंद करने की धमकी दी गई। सूचना पर पहुंचे चरगांवा ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि रणविजय सिंह मुन्ना ने क्षेत्रीय विधायक विपिन सिंह एसपी सिटी सीओ कैट को घटना से अवगत कराया। कल मंदिर संचालकों ने मंदिर बंद कर इसकी शिकायत मुख्यमंत्री से करेंगे

मामले में सीओ कैन्ट श्याम देव बिंद ने बताया कि मामले की जांच कराकर आवश्यक कार्यवई की जाएगी।

वही एसपी सिटी कृष्ण कुमार विश्नोई ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। जांच कराई जा रही है। जो भी दोषी होगा उसपर सख्त कार्यवायी होगी।