सिद्धार्थनगर: सीएम योगी ने पुलिस हॉस्टल का किया वर्चुअली शुभारंभ

Listen to this article

सिद्धार्थनगर। पुलिसकर्मियों को रहने के लिए आवास की किल्लत अब नहीं रहेगी। जिले के विभिन्न थानों में बने 148 आवास व चार विवेचना कक्ष का वर्चुअल शुभारंभ सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को लोकभवन लखनऊ से किया। इसका लाइव प्रसारण पुलिस लाइन सभागार में किया गया।
सीएम योगी ने अपने सम्बोधन में कहा पहले लोगों को न्याय नहीं मिलता था। कोई वर्ग सुरक्षित नहीं था। अब स्थितियां बदली हैं। बदमाशों में पुलिस का भय बना है। पीडि़त को न्याय मिल रहा है। कहा कि कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए कार्य करें। विधायक विनय वर्मा ने कहा कि पुलिस अपराध रोकने में रात दिन मेहनत करती है। सरकार सभी को आवास देने के लिए प्रतिबद्ध है।
पुलिसकर्मियों को मिलेगी राहत
विधायक माता प्रसाद पांडेय ने कहा कि सभी पुलिसकर्मी को आवास जरूरी है। इटवा में भवन बन जाने से पुलिसकर्मियों को राहत मिलेगी। एसपी अमित कुमार आनन्द ने कहा कि पुलिसकर्मियों को आवास की समस्या होती थी। नए भवन बन जाने से सभी को काफी सहूलियत होगी। ड्यूटी से आने के बाद उन्हें रहने- सोने की समस्या होती थी। इसे देखकर प्रदेश सरकार ने आवास का निर्माण कराया है। अब काफी हद तक समस्याओं का निदान हो गया है। जहां जरूरत होगी। वहां भविष्य में कार्य कराया जाएगा। एसपी ने कहा कि चिल्हिया थाने में 47.41 लाख रुपये की लागत से हास्टल व एक विवेचना कक्ष का निर्माण कार्य हुआ है। 157.31 लाख रुपये की लागत से मोहाना में हास्टल व एक विवेचना कक्ष, इटवा में 274.75 लाख से प्रशासनिक भवन, टाइप दो के चार आवास, मिश्रौलिया में 141.40 लाख से 32 कर्मियों के लिए आवास व एक विवेचना कक्ष, इटवा में 192.84 लाख रुपये की लागत से 48 कर्मियों के लिए हास्टल व एक विवेचना कक्ष के अलावा महिला थाना व पुलिस लाइन में 125.81 लाख रुपये की लागत से हास्टल का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। इसे जल्द ही पुलिसकर्मियों को आवंटित कर दिया जाएगा।
ये लोग रहे मौजूद
डीएम संजीव रंजन, एएसपी सुरेश चंद्र रावत, सीओ सदर प्रदीप कुमार यादव, एसओ सदर तहसीलदार सिंह, प्रतिसार निरीक्षक बोधनाथ यादव, उपनिरीक्षक शशांक कुमार सिंह, चंदन कुमार, दिलीप द्विवेदी आदि मौजूद रहे।