रीवा: जेल में बंद कैदी हथकड़ी तो लॉकअप से फरार

Listen to this article

रीवा (मध्यप्रदेश)। रीवा जिले के मनगवां थाने इलाके में लॉकअप में बंद एनडीपीएस के एक आरोपी के भागने का मामला
सामने आया है। बीती शाम पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया था, लेकिन सोमवार को वो लॉकअप से फरार हो गया। पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने मामले में लापरवाही बरतने वाले आरक्षक को निलंबित कर दिया है। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए टीम गठित कर उसकी तलाश की जा रही है। नशीले पदार्थों के सेवन करने, इसे बनाने, खरीद-बिक्री करने के खिलाफ देश में जो कानून है, उसे नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस एक्ट (एनडीपीएस) कहते हैं।
अभी जिले में रेप कांड का मामला शांत भी नहीं हुआ था की पुलिस की बेचैनी अब एक आरोपी ने जेल से फरार होकर और बढ़ा दी है। खबर है कि रीवा जिले के मनगवां थाने से एक दिन पूर्व पुलिस द्वारा पकड़ा गया आरोपी पुलिसकर्मियों को चकमा देकर हथकड़ी को खोलकर लॉकअप से फरार हो गया है। आरोपी को नशीले कफ सीरप की बिक्री करते हुए पकड़ा गया था।
जिस पर एनडीपीएस की कार्यवाही की जानी थी। पुलिस ने टिकुरी निवासी रामायण प्रसाद नामक शख्स को गिरफ्तार किया था। आरोपी नशीली कफ सीरप के साथ पकड़ा गया था। पुलिस ने उसे हथकड़ी लगाकर रखा था। मंगलवार की जब ड्यूटी का समय बदलने के बाद देखा गया तो वह गायब था और हथकड़ी खुली पड़ी थी। लॉकअप के भीतर से आरोपी के फरार होते ही पूरे स्टाफ में हडक़ंप मच गया। इसकी सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई।पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने इस मामले को गंभीरता से लिया है। उन्होंने आरोपी की ड्यूटी में तैनात आरक्षक संतोष सिंह को तत्काल निलंबित कर दिया है। एसपी द्वारा आरोपी की तलाश के लिए टीम गठित की गई है। पुलिस टीम द्वारा लगातार आरोपी की तलाश की जा रहा लेकिन अभी तक आरोपी का पता नही चल पाया है। थाने से इस तरह हथकड़ी खोलकर आरोपी के भागने
से पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आई है।