एक ही दिन में रिपेयर होकर पटरी पर लौटी वंदे भारत एक्सप्रेस

Listen to this article

नई दिल्ली। मुंबई सेंट्रल से लेकर और गुजरात के गांधीनगर तक जाने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस गुरुवार सुबह मवेशियों से टकराने के बाद क्षतिग्रस्त हो गई थी। हालांकि, इस ट्रेन को एक दिन के भीतर ही कोचिंग केयर सेंटर में ठीक कर दिया गया है। इस टक्कर में ट्रेन के आगे का कुछ हिस्सा ही क्षतिग्रस्त हुआ था। वंदे भारत एक्सप्रेस की तस्वीर गुरुवार को सुबह करीब 11.15 बजे दुर्घटना के तुरंत बाद वायरल हो गई थी। लोग तरह-तरह के कमेंट कर रहे हैं।
यहां बता दें कि 3-4 भैंसों के रेलवे लाइन पर आने के कारण इंजन का अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया था। दुर्घटना आठ मिनट के भीतर शवों को हटाकर ट्रेन गांधीनगर के लिए रवाना हुई और अपने तय समय पर पहुंच गई।
कुछ कांग्रेस नेताओं ने भारत में बने वंदे भारत एक्सप्रेस की गुणवत्ता पर सवाल उठाया। कांग्रेस के नितिन अग्रवाल ने पीएम मोदी द्वारा वंदे भारत एक्सप्रेस के उद्घाटन की तस्वीर और कल के हादसे के बाद की वायरल तस्वीर पोस्ट की। अग्रवाल ने इसका कैप्शन दिया- घर से निकलते ही… कुछ दूर चलते ही…। मुंबई सेंट्रल और गांधीनगर के बीच वंदे भारत ट्रेन का उद्घाटन 30 सितंबर को पीएम मोदी ने किया था। पश्चिम रेलवे के प्रवक्ता जितेंद्र कुमार जयंत ने कहा, मुंबई सेंट्रल और गांधीनगर कैपिटल स्टेशनों के बीच चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस सुबह मुंबई से रवाना हुई थी। सुबह करीब 11.15 बजे ट्रैक पर आई कुछ भैंसों से टकराने के बाद ट्रेन के इंजन का अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। यह घटना अहमदाबाद के वटवा और मणिनगर क्षेत्रों के बीच हुई। पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर ने कहा, ट्रेन का चालक पूरी तरह से सतर्क था। उसने तुरंत ट्रेन की सीटी बजाई और ब्रेक भी लगाया, लेकिन प्रतिक्रिया समय कम था। गांधीनगर-अहमदाबाद खंड ट्रेन की गति 160 किमी प्रति घंटे तक बढ़ाने और भविष्य में ऐसी घटनाओं से बचने के लिए काम किया जा रहा है।