ससुर, सास और साले का गला काटा, एक की मौत

Listen to this article

सीतामढ़ी (बिहार)। सीतामढ़ी में एक दामाद ने अपने सास-ससुर और विक्षिप्त साले पर चाकू से हमला कर दिया। इसमें ससुर की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। युवक की पत्नी की डिलीवरी ससुराल में ही हुई थी, लेकिन मरा हुआ बच्चा पैदा हुआ था। युवक का आरोप है कि ससुराल वालों ने पत्नी को गलत दवाइयां खिलाई। इसके चलते बच्चे की मौत हो गई। इसी गुस्से में उसने ससुराल वालों पर हमला कर दिया। घटना जिले के परसौनी थाना क्षेत्र के खिरोधर पंचायत के कोरा खडगी गांव की है।
घटना के बाद गंभीर हालत में सास और साले का मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच में इलाज जारी है, मृतक की पहचान कोरा खडगी गांव निवासी 55 वर्षीय बिंदेश्वर महतो के रूप में की गई है। वहीं घायल की पहचान 48 वर्षीय उर्मिला देवी और रमेश महतो के रूप में की गई है, जहां जख्मी महिला यानी सास की स्थिति काफी नाजुक बताई जा रही है।
वहीं घटना को अंजाम देकर भाग रहे पिता-पुत्र को भी स्थानीय ग्रामीणों ने जमकर पिटाई कर दी, जिससे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए है। दोनो को जख्मी हालत में उसके परिजन इलाज के लिए मुजफ्फरपुर में भर्ती कराया है। दोनों की पहचान बेलसंड थाना क्षेत्र के छोटी बेलसंड़ गांव निवासी राम सेवक महतो और सनकी दामाद चंदन महतो के रूप में की गई है। आरोपी के पिता कि स्थिति काफी नाजुक बताई जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार आरोपी दामाद अपने पत्नी को ससुराल में भी छोड़े हुआ था, जहां 15 दिन पहले उसके पत्नी ने मृत बच्चे को जन्म दिया था, जिसको लेकर दामाद गुस्से में था और रविवार की रात ससुराल आकर झगड़ा करने लगा। वहीं दामाद का आरोप है कि उसकी पत्नी को गलत गलत दवाएं दी गई, जिसके वजह से मृत बच्चा पैदा हुआ है। इस दौरान गांव वालों ने बीच-बचाव कर दामाद और ससुर को भगा दिया, लेकिन फिर सनकी दामाद अपने पिता और दो-तीन अन्य साथियों के साथ पहुंचा और ससुर पर हमला कर दिया, वहीं बचाने गए सास और साले पर भी वार कर दिया।