नौकरानी ने रची थी रिटायर्ड रेलकर्मी के घर में लूट की साजिश, नौकरानी समेत चार अरेस्ट

Listen to this article

मुकदमे में बढ़ाई जाएगी डकैती की धारा, लूट का करीब 1लाख रूपये व दो तमंचा और दो बाइक बरामद

गोरखपुर। जिले के उरूवा इलाके के जगदीशपुर में रिटायर्ड रेलकर्मी रामाश्रय विश्वकर्मा के घर लूट की साजिश उनकी नौकरानी ने ही रची थी। इंस्पेक्टर सुनील निषाद व उनकी टीम ने सोमवार को आरोपी नौकरानी शिवकुमारी, विकास यादव, मुकेश यादव, हर्ष यादव और अभिषेक यादव को अरेस्ट कर लिया। पुलिस अब मुकदमें में डकैती की धारा भी बढ़ाएगी। पुलिस ने आरोपियों के पास से दो तमंचा, दो कारतूस, दो बाइक और लूट का 1 लाख 15 हजार रूपये बरामद कर लिया। पुलिस ने सभी को कोर्ट में पेश कर जेल भिजवा दिया।

एसपी साउथ अरूण कुमार सिंह ने बताया कि उरूवा के जगदीशपुर निवासी रामाश्रय विश्वकर्मा रेलवे में बड़े बाबू के पद पर कार्यरत थे। 2013 में वह रिटायर्ड हुए हैं। वर्तमान में वह अपने दोनों बेटो व बहू से अलग होकर दूसरे मकान में रहते हैं। उन्होंने खाना बनाने के लिए पिछले तीन माह से बेलघाट के रसूलपुर निवासी शिवकुमारी को रखा था। वह रामाश्रय के साथ ही घर में रहती थी। रामश्रय उसे 10 हजार रूपये मासिक वेतन देते थे। साथ ही उसकी आर्थिक मदद भी करते थे। बीते 14 नवंबर 2022 की रात ८ बजे रामाश्रय ने फोन कर सूचना दिया कि उनके घर में तीन लोग घुस कर लूट किए हैं। पुलिस की पूछताछ में उन्होंने 6 लाख कैश व करीब 4 लाख का जेवरात लूटा गया है। पुलिस की जंाच में सामने आया कि नौकरानी शिवकुमारी पूरी घटना में लुटेरों से मिली है। पुलिस को मौके से ही एक दूसरे बाक्स में से लूटे गए जेवरात मिल गए। वहीं पुलिस विवेचना में पता चला कि गोला गोपालपुर के अभिषेक ने लूट के लिए बाइक दी थी और वह घर के बाहर खड़ा होकर निगरानी कर रहा था। जबकि गोला के शिवपुर निवासी विकास यादव, बेलघाट के रसुलपुर माफी निवासी मुकेश यादव और गोला के देवकली निवासी हर्ष यादव घर में दाखिल हुए थे और एक ने नौकरानी शिवकुमारी को पकड़ा तो दूसरे ने रिटायर्ड रेलकर्मी को पकड़ा और तीसरे ने आलमारी से कैश निकाला। जिसके बाद पुलिस ने सभी पांच आरोपियों को अरेस्ट कर लिया। घटना के एक दिन पहले इन सभी ने रेकी भी की थी। एसपी साउथ ने बताया कि नौकरानी बुजुर्ग से पहले भी लाखों रूपये ऐंठ चुकी है। हाल ही में उसने बुजुर्ग से अपने बेटे के लिए 90 हजार की बाइक खरीदवाई थी। आरोपी मुकेश और हर्ष पर दो दो केस तो अन्य पर एक एक केस दर्ज हैं।