गोरखपुर में अब इकाई नही होगा एन्टी करप्शन थाना

Listen to this article

इंटरनेशनल एंटी करप्शन डे स्पेशल

गोरखपुर में थाना बनने के बाद हो जाएंगे प्रदेश में 18 थाने

गोरखपुर: गोरखपुर में अब एंटी करप्शन थाना खुलने जा रहा है. अभी तक यंहा केवल एंटी करप्शन इकाई काम कर रही थी. इस इकाई के जिम्मे 9 जिले थे. वही प्रदेश में लखनऊ समेत 9 थाने एंटी करप्शन के थे. लेकिन अब गोरखपुर व बस्ती समेत 9 और थाने बन रहे हैं. जिसके बाद अब प्रदेश में कुल 18 एंटी करप्शन थाना हो जाएगा. गोरखपुर समेत 9 नए एंटी करप्शन थाने का उद्घाटन शनिवार यानी 10 दिसम्बर 2022 को सीएम योगी आदित्यनाथ के हाथों होना प्रस्तावित है.

आपको बता दे कि अभी तक गोरखपुर में एंटी करप्शन की एक इकाई ही थी.जिसमे एक इंस्पेक्टर समेत करीब 8 लोग थे. इनके जिम्मे गोरखपुर, महराजगंज, कुशीनगर, देवरिया, संतकबीर नगर, बस्ती, सिद्धार्थनगर, आजमगढ़, मऊ जिले का कार्यक्षेत्र था. टीम ट्रेप करने के बाद भरस्टाचार में पकड़े गये आरोपी को जंहा से उसे पकडा जाता था उझसे सम्बंधित थाने को सौंप देती थी और वही पर तहरीर देकर केस दर्ज कराती थी. लेकिन अब थाना बनने के बाद वह खुद अपने थाने में ही केस दर्ज कर कार्यवई कर सकेंगे. लेकिन अब गोरखपुर, बस्ती, आजमगढ़, गोंडा, सहारनपुर समेत 9 नए एंटी करप्शन के थाने बन रहे है.

गोरखपुर इकाई ने एक साल में 11 ट्रैप कर कई सरकारी कर्मचारियों को भिजवाया जेल

जानकारी के अनुसार एंटी करप्शन की गोरखपुर इकाई ने इस वर्ष जनवरी 2022 से अब तक कुल 11 ट्रैप किया है. जिसमे घुस लेने के दौरान कई सरकारी कर्मचारी रंगे हाथ गिरफ्तार हुए जो अभी तक जेल में है.
इस सम्बंध में एंटी करप्शन प्रभारी सन्तोष कुमार दीक्षित ने बताया की हमारी टीम 9 जिलों में काम करती है. इस साल 2022 में अब तक 11 ट्रैप कर भ्रष्टाचार में लिप्त लोगों को जेल भेजा गया है. अभी आगे और भी कार्रवाई जारी है. वही अब गोरखपुर में एंटी करप्शन थाना होगा.

केस:1
बिजली कनेक्शन लेना है तो 50 हजार रुपए लगेंगे. बिजली विभाग के जेई ने कुछ इस तरह बेबाकी से कंज्यूमर को कनेक्शन लेने का तरीका बताया. परेशान हाल कंज्यूमर जब कई दिनों तक दौड़ता रहा और इसके बाद भी उसे कनेक्शन नहीं मिला. तब उसने जेई को सबक सिखाने के लिए एंटी करप्शन की टीम को सारी बात बताई. कंप्लेन के बाद रंगे हाथों बस्ती जिले के बिजली विभाग के जेई राघवेन्द्र प्रताप सिंह को एंटी करप्शन की टीम ने ट्रैप किया. अब जेई जेल के अंदर है.

केस:2
18 जनवरी 2022 को एंटी करप्शन की टीम ने संतकबीर नगर के सहायक लेखाकार अवधेश मिश्रा को 20 हजार रुपए के साथ ट्रैप किया.वह एक युवक से घुस मांगे थे.

एंटी करप्शन ने इन्हें पकड़ा
– 27 अप्रैल को एआरओ कार्यालय से वरिष्ठ सहायक लेखाकार सुशील मौर्या को 10 हजार रुपए के साथ ट्रैप किया.
– 17 जून को हरैया बस्ती के लेखपाल घनश्याम चौधरी को दस हजार रुपए के साथ ट्रैप किया1
– 19 जून को महाराजगंज के लेखपाल सुभाष पटेल को 5 हजार रुपए के साथ ट्रैप किया.
– 28 जुलाई को आजमगढ़ के लेखपाल अशोक कुमार उपाध्याय को 5 हजार रुपए के साथ ट्रैप किया.
– 23 अगस्त को बस्ती के बिजली विभाग के जेई राघवेन्द्र प्रताप सिंह को 50 हजार रुपए के साथ ट्रैप किया.
– 30 अगस्त को देवरिया बरहज तहसील के लेखपाल अशोक कुमार पाण्डेय को 5 हजार रुपए के साथ ट्रैप किया.
– 23 सितंबर को देवरिया बिजली विभाग के बड़े बाबू उग्रसेन सिंह को 5 हजार के साथ ट्रैप किया.
– 23 नवंबर को बस्ती बिजली विभाग के जेई राजेश प्रजापति और प्राइवेट पर्सन राहुल कुमार को 10 हजार रुपए के साथ ट्रैप किया.
– 30 नवंबर को मऊ विकास भवन के ग्राम विकास अधिकारी अमरेश सिंह को 20 हजार रुपए के साथ ट्रैप किया.
– 6 दिसंबर को मधुबन, शिव मंदिर के संग्रह अमीन राजेश लाल को 15 हजार रुपए के साथ ट्रैप किया.