जमानत पर छूटे पुलिसकर्मियों ने पुलिस लाइन में कराई आमद

Listen to this article

10 जनवरी को जमानत पर रिहा हुए थे हत्यारोपित पांच पुलिसकर्मी
16 माह पहले हत्या का मुकदमा दर्ज होने पर किए गए थे निलंबित

गोरखपुर: जमानत पर छूटे कानपुर के व्यापारी मनीष गुप्ता हत्याकांड के पांच आरोपित पुलिसकर्मियों ने शुक्रवार की शाम पुलिस लाइन में अपनी आमद कराई।हत्या का आरोप लगने पर तत्कालीन एसएसपी ने सभी को पहले निलंबित किया था।बाद में मुकदमा दर्ज होने के बाद गिरफ्तार कर जेल भेजे गए थे।
शुक्रवार की शाम चार बजे दारोगा अक्षय मिश्रा,राहुल दूबे,विजय यादव,मुख्य आरक्षी कमलेश यादव,आरक्षी प्रशांत कुमार पुलिस लाइन पहुंचे।निलंबित होने की जानकारी देते हुए सभी ने पुलिस लाइन में अपनी आमद कराई।तारामंडल स्थित होटल कृष्णा पैलेस में कानपुर के व्यापारी मनीष गुप्ता की पीटकर हत्या करने का आरोप लगने पर 28 सितंबर 2021 को तत्कालीन एसएसपी डा. विपिन ताडा ने आरोपित थानेदार जगत नारायण सिंह,दारोगा अक्षय मिश्रा,राहुल दूबे,विजय यादव,मुख्य आरक्षी कमलेश व आरक्षी प्रशांत को निलंबित किया था।मामले के तूल पकड़ने पर सभी आरोपितों के विरुद्ध मनीष की पत्नी मीनाक्षी गुप्ता की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्ज हो गया।जिसके बाद पुलिस लाइन मे आमद कराए बिना ही सभी फरार हो गए।कानपुर एसआइटी की टीम ने सभी को गिरफ्तार कर जेल भेजा।हत्या के मुकदमे में आरोप तय होने के बाद 10 जनवरी 2023 को पांचों पुलिसकर्मी तिहाड़ जेल से रिहा हुए।