मैंने किसी को नहीं रोका है, नेता अपनी इच्छा से पार्टी में आते-जाते हैं: नीतीश

Listen to this article

पटना। बिहार में ठंड से राहत मिले या न मिले, राजनीतिक पारा जरूर चढ़ गया है। राजनीतिक पार्टियों की आंतरिक कलह के कारण नेताओं में खूब घमासान मचा हुआ है। नीतीश का साथ छोड़ भाजपा का दामन थामने की अटकलों के बीच जदयू के संसदीय बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने जदयू को न सिर्फ कमजोर पार्टी बताया, बल्कि सीएम नीतीश के साथ बढ़ती दूरियों को जगजाहिर कर आग में घी डालने का काम किया। अब इसपर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उन्हें करारा जवाब दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि हमारी पार्टी कमजोर नहीं हुई है। ये झूठे आरोप हैं, लोगों को जो कुछ कहना है कहने दीजिए।
किसी के जाने से बिहार का विकास नहीं रुकेगा: सीएम नीतीश
पटना एएन कालेज में पूर्व मुख्यमंत्री सतेंद्र नारायण सिंह की आदमकद प्रतिमा का लोकार्पण कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि कुछ लोग चर्चा में बने रहने के लिए कुछ-कुछ बोलते रहते हैं। पार्टी कमजोर होने की बात करते हैं। पहले से कई गुना पार्टी सदस्यों की संख्या बढ़ी है। किसी के कहने से जदयू पार्टी कमजोर नहीं होगी। सीएम ने कहा कि महागठबंधन को लेकर बहुत कुछ कहा जा रहा है। किसी के कहने और जाने से विकास रुकेगा नहीं। कोई कहीं भी जाने के लिए स्वतंत्र हैं।
उपेंद्र कुशवाहा ने कही थी डील की बात
बता दें कि मंगलवार को उपेंद्र कुशवाहा ने कहा था कि जब-जब नीतीश कुमार कमजोर हुए तो मैं उनके साथ खड़ा रहा हूं। मैंने अपनी पार्टी का विलय करके उनको ताकत दी। हालांकि, इन दिनों नीतीश जी कमजोर हुए हैं। जदयू लगातार कमजोर हो रहा है। इन दिनों मेरे ऊपर व्यक्तिगत प्रहार हो रहा है। उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि आजकल राजद के लोग एक डील की बात कर रहे हैं। हम उनसे इस डील के बारे में जानना चाहते हैं।