अराजकता पर भडक़ा अभाविप किया प्रदर्शन

Listen to this article

गोरखपुर। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्विद्यालय में सात जनवरी से प्रारंभ हुई प्री पीएचडी परीक्षा में हुई अनियमितता एवं पाठ्यक्रम के अनुरूप प्रश्न न होने और उसके बाद शान्तिपूर्ण तरीके से परीक्षा दे रहे परीक्षार्थियों के साथ किए गए दुव्र्यवहार व उत्तरपुस्तिका फाड़े जाने पर रोष जताया है। अभाविप ने गोरखपुर विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन पर जमकर विरोध प्रदर्शन किया। कुलपति आवास पर जाकर उन्हें ज्ञापन सौंपा।
महानगर मंत्री प्रशांत त्रिपाठी ने कहा कि प्री पीएचडी की परीक्षा जो बहुत पहले सम्पन्न हो जानी चाहिए थी, वो विश्वविद्यालय प्रशासन की लापरवाही के कारण समय से नहीं सम्पन्न हो पाई जिससे छात्रों को बहुत नुकसान हो चुका है। दुर्भाग्यपूर्ण यह है कि इस बहुप्रतिक्षित परीक्षा को सम्पन्न कराने में विश्वविद्यालय प्रशासन पूरी तरह से एक बार पुन: विफल हो गया। शुक्रवार को परीक्षा कक्ष में पेपर फाड़े जाने की अप्रत्याशित घटना हुई है, शर्मनाक एवं निन्दनीय है। इससे विश्वविद्यालय में पठन-पाठन का माहौल खराब होगा एवं विश्वविद्यालय की परीक्षा प्रणाली एवं विश्वसनीयता पर विद्यार्थियों का विश्वास कम होगा। उन्होंने कहा कि ऐसी अराजक स्थिति उत्पन्न करने वालों की जिम्मेदारी सुनिश्चित की जाए एवं उन पर सख्त कार्यवाही की जाए। विश्वविद्यालय प्रशासन यह सुनिश्चित करे कि भविष्य में इस प्रकार की घटना न हो।