उत्तर भारत के कई राज्यों में अगले 4 दिन भारी बारिश की चेतावनी

Listen to this article

नई दिल्ली। उत्तर भारत में पड़ रही कड़ाके की ठंड़ को बारिश ने ओर बढ़ा दिया है। मौसम विभाग ने आने वाले दिनों में कई राज्यों में बारिश की आशंका जताते हुए येलो और ऑरेंज अलर्ट जारी किए हैं। उत्तर भारत में बारिश, बर्फबारी के कारण ठंड का प्रकोप जारी है। मौसम विभाग ने कहा है कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण 10 जनवरी के बाद से उत्तर भारत में ठिठुरन और बढ़ेगी। मौसम विज्ञान विभाग ने 11 से 13 जनवरी तक भारत के पूर्वी क्षेत्रों में बारिश और घने कोहरे की चेतावनी दी है। मौसम वैज्ञानिक के अनुसार जैसे-जैसे पश्चिमी विक्षोभ आगे बढ़ रहा है, उससे देश के मध्य और पूर्वी भाग खासकर ओडिशा, झारखंड, बंगाल और बिहार को भारी वर्षा और ओलावृष्टि का सामना करना पड़ेगा। पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र और आसपास के मैदानी इलाकों राजस्थान, हरियाणा और पंजाब में लगातार हो रही बारिश थोड़ी कम हुई है। बारिश के कारण दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और राजस्थान में अगले 3 से 4 दिनों में शीतलहर के आसार हैं इसी के ही साथ उत्तराखंड, हिमाचल और जम्मू-कश्मीर के कई इलाकों में भी बारिश और बर्फबारी का दौर जारी है। इसी के ही साथ राजस्थान, हरियाणा और पंजाब में पश्चिमी हिमालय और आसपास के मैदानी इलाकों में चल रही तेज बारिश कमजोर पड़ जाएगी। ओडिशा की बात करें तो मौसम विभाग ने यहां 11 और 12 जनवरी के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यहां 11 जनवरी को ओलावृष्टि होगी। आपको बता दें कि ढ्ढरूष्ठ के ऑरेंज अलर्ट में ‘बेहद खराब मौसम’ की चेतावनी दी गई है। इससे सडक़ और रेल मार्ग के बंद होने और बिजली आपूर्ति में रुकावट होने की भी संभावना है।

इन तीन राज्यों में येलो अलर्ट
बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल में विभाग ने 11 जनवरी से 13 जनवरी तक येलो अलर्ट जारी किया है। येलो अलर्ट गंभीर रूप से खराब मौसम का संकेत देता है। इस अलर्ट के अनुसार, मौसम और भी खराब हो सकता है, जिससे सामान्य गतिविधियों में मुश्किलें पैदा हो सकती हैं वहीं दिल्ली में बारिश में कमी आएगी और आने वाले दिनों बारिश नहीं होगी। क्योंकि आगे कोई पश्चिमी विक्षोभ नहीं है। मौसम विभाग ने इसका पूर्वानुमान लगाया है। रविवार को दिल्ली में बारिश की वजह से सुबह मौसम ठंडा रहा। शाम को शीतलहर चलने पर ठंड बढ़ी। दिनभर का न्यूनतम तापमान 13.8 डिग्री और अधिकतम तापमान 15 डिग्री दर्ज किया गया। कश्मीर की तरह उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में भी बर्फबारी का जबरदस्त दौर जारी है। नेशनल हाइवे का हाल बर्फीले रेगिस्तान जैसा हो गया है। पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फ के बीच कुछ जगहों पर आवाजाही प्रभावित है। मकान बर्फ में ढक गए हैं, सबकुछ जम गया है। चार-धाम के प्रमुख तीर्थो के चारों तरफ तो बर्फ ही बर्फ है।