निर्भया केस की वकील सीमा बसपा में शामिल

Listen to this article

लखनऊ। निर्भया केस की वकील रही सीमा कुशवाहा बसपा में शामिल हो गईं। सीमा को बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र ने पार्टी ज्वाइन कराई। सीमा ने औपचारिक तौर पर बीएसपी की सदस्यता ली। इस मौके पर उन्होंने बसपा सुप्रीमो मायावती को पांचवीं बार यूपी की सीएम बनाने का संकल्प लिया।
सीमा कुशवाहा ने कहा कि बहुत लोग मुझसे सवाल करेंगे और कर भी रहे हैं कि आखिर बीएसपी ही क्यों इसका जवाब यह है कि एक बेटी संघर्ष करके चार बार यूपी की मुख्यमंत्री बनती है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर परचम लहराती है। संघर्षों से जूझते-जूझते आज वह पूरे देश में हर वर्ग की आवाज बन जाती है तो मैं किससे प्रभावित होकर, किससे जुड़ती। सीमा कुशवाहा ने कहा कि मान्यवर कांशीराम के मिशन से प्रभावित हूं। बसपा ने अपने कार्यकाल में करके दिखाया कि बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर बनाए संविधान का पालन कैसे किया जाता है। लॉ एंड आर्डर का सुचारू रूप से कैसे संचालन किया जाता है।
सीमा कुशवाहा ने कि मैने निर्भया कांड के चार दरिंदों को फांसी दिलाई। वो बेटी दरिंदगी की शिकार हुई थी। वो घटना लॉ एंड आर्डर के फेल्योर का उदाहरण थी। मायावती जी के शासन में जिस एक काम की सबसे ज्यादा चर्चा हुई वो थी लॉ एंड आर्डर की। बेटियां सुरक्षित थीं। मैं चाहती हूं कि इस देश 49 प्रतिशत महिलाओं की आबादी की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए। एक बेटी यदि पांचवीं बार यूपी की सीएम बनती है तो मुझे भरोसा है कि बेटियों की सुरक्षा सुनिश्चित होगी और उनको न्याय मिलेगा।