सीएम योगी के खिलाफ गोरखपुर से सपा प्रत्याशी होंगी उपेन्द्र शुक्ल की पत्नी सुभावती

Listen to this article

गोरखपुर। विधानसभा चुनाव से पहले चरम पर चल रही जोड़तोड़ की राजनीति में सपा ने भाजपा पर तगड़ा पलटवार किया है। गोरखपुर क्षेत्र की राजनीति के ब्राह्मण चेहरा माने जाने वाले भाजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष और गोरखपुर के क्षेत्रीय अध्यक्ष रह चुके स्व. उपेंद्र दत्त शुक्ला की पत्नी सुभावती शुक्ला को सपा ने अपने खेमे में शामिल कर लिया है। गुरुवार को लखनऊ में समाजवादी पार्टी के कार्यालय पर अखिलेश यादव से सुभावती की मुलाकात हुई। यह तय माना जा रहा है कि सुभावती शुक्ला ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ सपा की प्रत्याशी होंगी।

भाजपा के कद्दावर नेता था उपेन्द्र शुक्ल
भाजपा संगठन के कद्दावर नेताओं में गिने जाने वाले उपेंद्र दत्त शुक्ला गोरखपुर, बस्ती और आजमगढ़ मंडल में पार्टी का ब्राह्मण चेहरा थे। पार्टी में लंबे समय तक संगठन की सेवा करने वाले उपेंद्र दत्त शुक्ला विभिन्न पदों पर भी रहे। कौड़ीराम विधानसभा सीट से भाजपा ने उन्हें प्रत्याशी बनाया था, लेकिन वह चुनाव हार गए।
भाजपा से लोक सभा चुनाव लड़ चुके थे उपेन्द्र
योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद गोरखपुर सदर लोकसभा सीट पर 2018 में हुए उपचुनाव में भाजपा ने उन्हें एक बार फिर प्रत्याशी बनाया, लेकिन इस बार भी उपेंद्र शुक्ला सपा प्रत्याशी प्रवीण निषाद से पराजित हो गए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की परंपरागत सीट से भाजपा की हार के बाद उपेंद्र शुक्ला सक्रिय राजनीति से दूर होते गए। इस बीच डेढ़ साल पहले उपेंद्र शुक्ला की ब्रेन हैमरेज से मौत हो गई थी।