प्रस्तावक बनाकर सीएम योगी ने दिया समरसता का संदेश

Listen to this article

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नामांकन मेंं प्रस्तावकों के चयन को लेकर शहर में काफी चर्चा रही। चयन ही उन्होंने ऐसे नामों का किया था, जिनमें रिश्ते को निभाने की प्रतिबद्धता तो थी ही समरसता का संदेश भी था। दरअसल उन्होंने प्रस्तावकों के चयन के जरिए नाथ के पीठ समरसता अभियान को तो आगे बढ़ाया ही, समाज के हर वर्ग को सम्मान भी दिया। रविदास मंदिर समिति के अध्यक्ष और अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के उपाध्यक्ष विश्वनाथ के माध्यम से उन्होंने समरसता अभियान को सम्मान दिया तो चैंबर्स आफ इंडस्ट्रीज के पूर्व अध्यक्ष एसके अग्रवाल को प्रस्तावकों में शामिल करके उन्होंने उद्यमियों अपने रिश्तों को और प्रगाढ़ता दी।
दो सेट में दाखिल किया पर्चा
विधानसभा चुनाव 2022 के छठे चरण के तहत जिले में अधिसूचना जारी होने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहर विधानसभा क्षेत्र से पहले ही दिन नामांकन किया। दोपहर 12.45 बजे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह एवं उत्तर प्रदेश के चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान के साथ कलेक्ट्रेट परिसर पहुंचे और दो सेट में नामांकन किया। नामांकन के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री भी नामांकन कक्ष में मौजूद रहे। पहले दिन और किसी ने पर्चा तो दाखिल नहीं किया लेकिन विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों से कुछ संभावित प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र खरीदा।