विस चुनाव: कलेक्ट्रेट में फूट-फूटकर रोने लगी निर्दलीय प्रत्याशी, प्रचार न करने की मिल रही धमकी

Listen to this article

बुलंदशहर। जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव की सरगर्मी तेज हो रही है वैसे-वैसे नेताओं ने भी प्रचार-प्रसार और तेज कर दिया है। चुनाव-प्रचार को लेकर कुछ प्रत्याशियों ने प्रशासन पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं। ऐसा ही एक मामला बुलंदशहर से सामने आया है। यहां निर्दलीय प्रत्याशी ने प्रशासन पर बड़ी पार्टियों के नेताओं के साथ मिलीभगत का आरोप लगाया है। दरअसल सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें महिला प्रत्याशी उसे धमकी मिलने की बात कह रही है। वह प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाते-लगाते फूट-फूट कर रोने लगती है। महिला प्रत्याशी का आरोप है कि उसे प्रचार न करने की धमकी मिल रही है, इसको लेकर वह कई बार सुरक्षा मांग चुकी है लेकिन उसे अभी तक सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई है।
बुलंदशहर से निर्दलीय प्रत्याशी गीता रानी शर्मा सदर सीट से चुनाव मैदान में हैं। गीता रानी का आरोप है कि पिछले कुछ दिनों से उन्हें प्रचार न करने की धमकियां दी जा रही हैं। उन्होंने बताया कि कई बार उनकी गाड़ी को भी टक्कर मारी जा चुकी है। इसको लेकर वह कई बार प्रशासन से सुरक्षा मांग चुकी हैं लेकिन उन्हें अभी तक किसी तरह की सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई है। कलेक्ट्रेट पहुंची गीता रानी मीडिया से बात करते हुए फूट-फूट कर रो पड़ती हैं।
उनका आरोप है कि बड़े नेताओं को प्रशासन सुरक्षा मुहैया करा रहा है लेकिन हम लोगों को नहीं। गीता रानी ने बताया कि चुनाव प्रचार के दौरान ओवरटेक कर उनकी गाड़ी को टक्कर मारी गई। उनका आरोप है कि उन्हें प्रचार से रोका जा रहा है। धमकाया जा रहा है और उनके वाहन भी कई बार हमले हो चुके हैं। उनका आरोप है कि शकायत के बाद भी निर्वाचन आयोग की ओर से उन्हीं किसी तरह की कोई सुरक्षा नहीं दी गई।