उत्तराखंड में मतदान को लोगों में जबरदस्त उत्साह

Listen to this article

 

देहरादून। उत्तराखंड की पाचवीं निर्वाचित विधानसभा के लिए सुबह आठ बजे से मतदान शुरू हो गया है। सुबह से ही मतदान केंद्रों पर मतदाताओं का उत्साह दिख रहा है। बुजुर्ग से लेकर जवान तक अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए केंद्रों पर लाइन में खड़े हैं। राज्य के 80 लाख मतदाता आज चुनावी रण में उतरे उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में लॉक कर देंगे। पिछली बार प्रदेश में कुल 65.56 प्रतिशत मतदान हुआ था, इस बार निर्वाचन आयोग के सामने कोविड के चलते मत प्रतिशत बढ़ाने की भी चुनौती है। मतदान केंद्रों पर कोविड के मद्देनजर सैनेटाइजर और ईवीएम का प्रयोग करने के लिए दस्ताने दिए गए हैं, ताकि महामारी का प्रसार न हो। निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए आयोग ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हुए हैं। पीएम नरेंद्र मोदी, सीएम पुष्कर सिंह धामी, दिल्ली के सीएम केजरीवाल और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने लोगों से लोकतंत्र के इस त्योहार में हिस्सा लेने की अपील की है वही पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने वोट डाला
राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह ( से नि ) तथा राज्य की प्रथम महिला श्रीमती गुरमीत कौर ने सोमवार को मतदेय स्थल (पोलिंग स्टेशन) शहीद मेख बहादुर गुरुंग कैंट कन्या इंटर कॉलेज, गढ़ी, पहुंच कर अपने मताधिकार का प्रयोग किया  राज्यपाल ने राज्य के समस्त मतदाताओं से मतदान करने की अपील की  उन्होंने कहा कि यह अत्यंत गर्व तथा हर्ष का अवसर है राज्य के समस्त मतदाताओं को मतदान अवश्य करना चाहिए  लोकतंत्र की मजबूती के लिए प्रत्येक वोट अनमोल है 7
नैनीताल जिले में शुरुआती 1 घंटे में 5.58 फीसदी मतदान
विधानसभा चुनाव 2022 के लिए नैनीताल जिले की 6 सीटों पर सोमवार सुबह 8 बजे से मतदान शुरू हो गया है। मतदान शुरू करने से एक घंटा पहले मॉक पोल करवाया गया। भीमताल विधानसभा क्षेत्र के दूरस्थ बूथ रापूमावि बिरसिंज्ञा में ईवीएम में एक पार्टी के प्रत्याशी के सामने वाला बटन न दबने की शिकायत मिली। जबकि लुंगड़ बूथ में ईवीएम खराब हो गई। यहां तत्काल ईवीएम बदली गई। रामनगर के पटरानी क्षेत्र में ईवीएम खराब हो गई। यहां कुछ देर से मतदान शुरू हो पाया। हल्द्वानी आरोप ऋचा सिंह ने बताया कि मॉक पोल के दौरान तकनीकी दिक्कत के चलते 3 वीवीपैट और 1 कंट्रोल यूनिट बदलनी पड़ी। बताया बूथ नंबर 27, 85, 144, 177 में मशीन बदली गई। इसके बाद वहां दोबारा मॉक पोल करवाया गया। वहीं हल्द्वानी बद्रीपुरा बूथ पर एक मतदान कर्मी बीमार हो गया। उसके स्थान पर रिजर्व कर्मी की ड्यूटी लगाई गई। वहीं सुबह 8 बजे से 9 बजे से तक नैनीताल जिले में कुल 5.58 फीसदी मतदान हुआ। इनमें सबसे मतदान नैनीताल विधानसभा क्षेत्र में हुआ। जबकि कालाढूंगी क्षेत्र में मतदान की गति सबसे धीमी है।