मतदान के दौरान कोरोना प्रोटोकाल का पालन कराने को लगाए गए 24 नोडल अधिकारी

Listen to this article

अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों के पोलिंग बूथ की सौंपी गयी जिम्मेदारी

 

 

चुनाव ड्यूटी में लगे प्रत्येक कर्मचारी से प्रीकॉशन डोज लेने की अपील

 

 

गोरखपुर। गोरखपुर में छठे चरण के लिए तीन मार्च को होने वाले मतदान के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का पालन अनिवार्य तौर पर सुनिश्चित कराया जाएगा । प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित कराने के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. आशुतोष कुमार दूबे ने 24 नोडल अधिकारी नामित किये हैं जो अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों को संभालेंगे । सीएमओ ने चुनाव ड्यूटी में लगे प्रत्येक कर्मचारी से कोविड टीके की प्रीकॉशन डोज लेने की अपील भी की है ।

सीएमओ ने बताया कि प्रत्येक पोलिंग बूथ पर कोविड हेल्प डेस्क का सक्रियता से संचालन हो, इसके लिए सभी नौ विधानसभा क्षेत्रों के नोडल अधिकारी तय कर जिम्मेदारी दे दी गयी है । यह अधिकारी सुनिश्चित करेंगे कि उनके क्षेत्र के सभी पोलिंग बूथ पर आशा कार्यकर्ता इंफ्रारेड थर्मल स्कैनर, ग्लब्स, मास्क, सेनेटाइजर और पीपीई किट के साथ मौजूद रहें । जिले के सभी 2078 पोलिंग बूथ पर एक-एक आशा कार्यकर्ता रहेंगी और वह मतदाताओं की थर्मल स्कैनिंग करेंगी । उनके पास मेडिसिन किट भी उपलब्ध रहेगी । सभी पोलिंग पार्टी के लिए जिला प्रशासन को 4200 मेडिकल किट उपलब्ध कराया जाएगा । पोलिंग पार्टी के रवानगी स्थल पर भी एंबुलेंस और मेडिकल टीम की तैनाती की जाएगी ।

डॉ. दूबे ने कहा कि यद्यपि कोविड के मामले कम हुए हैं लेकिन अभी कोरोना पूरी तरह से समाप्त नहीं हुआ है । इससे बचाव के दो प्रमुख उपाय हैं। पहला उपाय है कि सभी पात्र लोग कोविड टीकाकरण अवश्य करवाएं । दूसरा उपाय है कि टीकाकरण के बाद भी कोविड नियमों का सख्ती से पालन करें । चुनाव के दौरान कोविड संक्रमण को रोकने के लिए कोरोना नियमों का सख्ती से पालन होगा और इसलिए हेल्प डेस्क बनाई जा रही है ।

जिला स्तर पर तीन नोडल को जिम्मेदारी

सीएमओ ने बताया कि नोडल अधिकारी एंबुलेंस डॉ. नंद कुमार, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. एएन प्रसाद और जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी को अलग-अलग जिम्मेदारी दी गयी है। यह लोग मतदान कार्यक्रम में स्वास्थ्य सेवा संबंधित सहयोग उपलब्ध करवाएंगे और कोविड टीकाकरण एवं कोविड प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित कराएंगे । नोडल अधिकारी एंबुलेंस की देखरेख में मतदान के दिन जिले के अलग-अलग स्थानों पर सभी 99 एंबुलेंस तैनात रहेंगी । जिला प्रतिरक्षण अधिकारी सभी मतदानकर्मियों का कोविड टीकाकरण सुनिश्चित कराएंगी । मतदानकर्मी और सुरक्षाबलों के कैशलेस उपचार की सुविधा भी डॉ. एएन प्रसाद देखेंगे ।

यह सुविधाएं भी रहेंगी उपलब्ध

• बूथ पर आवश्यकतानुसार व्हील चेयर उपलब्ध कराई जाएगी ।
• चुनाव अवधि में सभी सरकारी अस्पताल आकस्मिक सेवा के लिए तैयार रखे जाएंगे।
• बॉयोमेडिकल बेस्ट के निस्तारण की व्यवस्था की जाएगी ।
• कोविड के लक्षणयुक्त लोगों को पीपीई किट के साथ मतदान की सुविधा देंगे ।