तमिलनाडु में स्थानीय निकाय चुनाव 11 वर्ष बाद शुरू

Listen to this article

हिजाब पहनकर वोट डालने आई महिला को लेकर बवाल

चेन्नई। तमिलनाडु में 11 साल के बाद आज शहरी स्थानीय निकाय चुनाव हो रहा है। सुबह सात बजे से शुरु हुए मतदान में 21 निगमों, 138 नगर पालिकाओं और 490 नगर पंचायतों में 12,607 पदों के लिए 57, 778 उम्मीदवार चुनाव मैदान में खड़े हैं। अपना-अपना वोट डालने के लिए आज विभिन्न मतदान केंद्रों पर सुबह से मतदाताओं की लंबी कतारें लगी हुई हैं। यह चुनाव एक ही चरण में हो रहा है। मतदान सुबह सात बजे से शुरु होकर शाम छह बजे समाप्त हो जाएगा। तमिलनाडु राज्य चुनाव आयोग के अनुसार, कोविड के लक्षणों वाले मतदाताओं और जो संक्रमित हैं, उन्हें शाम 5 बजे से शाम 6 बजे के बीच मतदान करने की अनुमति दी जाएगी। चुनाव के वोटों की गिनती 22 फरवरी को की जाएगी। चुनाव के विजेता और नए चयनित सदस्य 2 मार्च को अपने पद का कार्यभार संभालेंगे।
आपको बता दें कि अक्टूबर 2016 में, चुनाव निर्धारित किए गए थे, लेकिन चुनाव मद्रास उच्च न्यायालय के निर्देश के मद्देनजर स्थगित कर दिया गया था, जिसके इसके बाद, कई कारणों के चलते चुनाव में देरी होती गई। बता दें कि निगम के महापौर व उप महापौर के लिए परोक्ष चुनाव तथा नगरपालिका के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष एवं नगर पंचायत के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चयन चार मार्च को होगा। शहरी स्थानीय निकाय चुनाव के लिए सुरक्षा का कड़ा इंतजाम किया गया है। 12,607 पदों के लिए 57,778 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं, जिसके लिए कुल 31,150 मतदान केंद्र बनाए गए हैं और लगभग लाख पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है। तमिलनाडु शहरी स्थानीय निकाय के एक मतदान केंद्र पर हिजाब पहन कर वोट देने आई महिला पर बवाल मच गया। भाजपा बूथ समिति के एक सदस्य ने मदुरै में एक मतदान केंद्र पर हिजाब पहनकर पहुंची एक महिला मतदाता पर आपत्ति जताई। उन्होंने महिला से हिजाब उतारने के लिए कहा, जिसके बाद वहां मौजूद लोगों ने उनका विरोध किया। इस मामले में द्रमुख विधायक उदयनिधि स्टालिन ने कहा कि भाजपा हमेशा से ऐसा ही करती आई है। हम पूरी तरह से इसके खिलाफ हैं। तमिलनाडु की जनता जानती है कि किसे चुनना है और किसे नकारना है। उन्होंने कहा कि तमिलनाडु के लोग इसे कभी स्वीकार नहीं करेंगे।