मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना: 432 जोड़ों ने थामा एक दूजे का हाथ

Listen to this article

 

गोरखपुर। मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना अंतर्गत शुक्रवार को ब्रह्मलीन महंत दिग्विजयनाथ स्मृति पार्क आयोजित भव्य समारोह में 432 बेटियों ने एक साथ गृहस्थ आश्रम में प्रवेश किया। 416 बेटियों का कन्यादान, अग्नि के समक्ष सप्तपदी एवं सिंदूरदान आयोजित किया जबकि 16 बेटियों का मौलाना ने मुस्लिम समाज की परम्पराओं के मुताबिक निकाह कराया। इस सामूहिक वैवाहिक समारोह में आशीर्वाद देने के लिए जनप्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारी मेजबान की भूमिका में नव दम्पत्तियों को आशीर्वाद दिए। वर-वधु के साथ दोनों पक्ष से आमंत्रित लोगों का सहभोज भी आयोजित हुआ।
वैदिक मंत्रोच्चार के बीच महराजगंज से आए छह ब्राह्मण पुरोहितो ने सामूहिक रूप से सनातन धर्म के मुताबिक वैवाहिक अनुष्ठान को पूर्ण कराया। इस मांगलिक आयोजन में सामान्य वर्ग की चार बेटिया, पिछली जाति की 124, अनुसूचित जाति की 288 और अल्पसंख्यम मुस्लिम वर्ग की 16 बेटियों का विवाह सम्पन्न हुआ। कुछ परिवार यहां वैवाहिक गीत गाते हुए कार्यक्रम स्थल पर आए तो कुछ कार्यक्रम स्थल से ही अपनी बहू को विदा कर गांव ले गए। आशीर्वाद देने के लिए महापौर सीताराम जायसवाल, उप महापौर ऋषि मोहन वर्मा, विधायक विपिन सिंह, विमलेश पासवान, महेंद्र पाल सिंह, ब्लाक प्रमुख शिव प्रसाद जायसवाल, सांसद प्रतिनिधि समरेंद्र विक्रम सिंह, डीएम कृष्णा कुरुणेश, एसएसपी विपिन ताडा, सीडीओ इंद्रजीत सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी वशिष्ठ नारायण सिंह, जिला अल्पसंख्यक अधिकारी आशुतोष पाण्डेय, जिला कार्यक्रम अधिकारी हेमंत सिंह, जिला प्रोवेशन अधिकारी सर्वजीत सिंह, जिला पंचायती राज अधिकारी हिमांशु शेखर ठाकुर, जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी संदीप मौर्य, जिला समाज कल्याण अधिकारी विकास वेद प्रकाश मिश्र समेत अन्य प्रशासनिक अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे। निकाह की प्रक्रिया पूर्ण कराने के लिए मौलाना रियाजुद्दीन, मुफ्ती अजहर शम्सी, मुफ्ती मेराज अहमद मौजूद रहे। उन्होंने सभी का निकाह सम्पन्न कराने के बाद निकाहनामा भी तत्काल तैयार किया