अस्पताल में अल्ट्रासाउंड नहीं होने पर गर्भवतियों ने काटा बवाल

Listen to this article

 

गोरखपुर।महिला अस्पताल से दो रेडियोलॉजिस्टों के एक साथ हुए तबादले के बाद अल्ट्रासाउंड की व्यवस्था चरमरा गई है। एक रेडियोलॉजिस्ट के भरोसे महज 25 से 30 अल्ट्रासाउंड ही किए जा रहे हैं। सोमवार को अल्ट्रासाउंड कक्ष के बाहर दर्जनों की संख्या में गर्भवतियां व प्रसूताएं कतारबद्ध हो गई। टोकन नहीं मिलने पर वे हंगामा शुरू कर दी। सूचना पाकर कोतवाली पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने बवाल काट रही गर्भवतियों को समझा-बुझाकर मौके से हटाया।
जिला महिला अस्पताल में हर रोज करीब छह सौ गर्भवतियां व प्रसूताएं इलाज के लिए आती हैं। पिछले दिनों रेडियोलॉजिस्ट डॉ.एमबी तिवारी व डॉ.एके झां के गैरजनपद हुए तबादले के बाद रेडियोलॉजिस्ट डॉ.अनूप कुमार श्रीवास्तव ही अकेले अल्ट्रासाउंड कर रहे हैं। जबकि एक महिला रेडियोलॉजिस्ट घर में शादी समारोह होने के चलते अवकाश पर चल रही हैं। सोमवार को बड़ी संख्या में गर्भवतियां वे प्रसूताएं सुबह 6 बजे से ही लाइन लगाकर खड़ी थी। सुबह 8 बजे रेडियोलॉजिस्ट डॉ.अनूप कुमार श्रीवास्तव जैसे ही मौके पर पहुंचे। कर्मचारियों ने सिर्फ 25 टोकन ही वितरित किए। जिस पर घंटों से लाइन में खड़ी अन्य गर्भवतियों व प्रसूताओं ने बवाल काटना शुरू कर दिया।