सिवान: इलाज के दौरान बंदी की मौत, परिजनों ने काटा बवाल

Listen to this article

पटना (बिहार)। जिले में एक सनसनीखेज का मामला सामने आया। जहां अस्पताल में जिला जेल की एक बंदी की इलाज के दौरान मौत हो गई। इस बात की जानकारी मिलते ही उसके परिजन अस्पताल पहुंचे और जमकर हंगामा किया। इसके साथ ही सडक़ जाम कर प्रदर्शन किया। मृतक के परिवारीजनों का आरोप है कि जेल प्रशासन ने उनके बेटे का सही ढंग से इलाज नहीं कराया। कहा कि जेल में अक्सर उसकी पिटाई की जाती थी। वहीं जेल सूत्रों का कहना है कि मृतक शराब के काफी ज्यादा सेवन करता था। जेल आकर नहीं पी सकता तो उसकी तबीयत खराब हो गई। जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती करा दिया गया।
मृृतक बंदी को बीते 13 जुलाई को शराब पीने के आरोप में वाल्मीकि यादव को गिरफ्तार किया था। जिसे गिरफ्तारी के बाद जेल भेज दिया गया। जेल प्रशासन के सूत्रों का कहना है कि वाल्मिकी यादव का शराब का लती था। जेल में आते ही उसकी तबीयत बिगड़ गई। 15 जुलाई को उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिसके बाद ठीक होने पर फिर जेल वापस भेज दिया गया। 17 जुलाई को बाल्मीकि की फिर तबीयत बिगड़ गई। शाम में उसे अस्पताल में इलाज के बाद जेल वापस भेजा गया। अस्पताल में भर्ती होने के बाद उसकी देर रात तबीयत बिगड़ गई। अस्पताल में भर्ती कराया गया तो रात करीब ढाई बजे उसकी मौत हो गई।