छात्राओं के अंडरगार्मेंट्स उतरवाने का मामला पकड़ा तूल, जगह-जगह धरना प्रदर्शन

Listen to this article

 

केरल। नीट की प्रवेश परीक्षा के दौरान छात्राओं के अंडरगारमेंटस उतरवाने का मामल अब तूल पकड़ते जा रहा है। केरल में धरना प्रदर्शन शुरू हो गया। कॉलेज में तोडफ़ोड़ की घटनाएं सामने आ रही है। हंगामा इतना अधिक बढ़ गया कि केन्द्रीय शिक्षा मंत्रालय तक को इसे लेकर बयान जारी करना पड़ गया है। अब जानकारी सामने आई है कि जांच कर रहे लोगों को कथित तौर पर छात्राओं के अंडरगारमेंट में लगे मेटल के हुक से आपत्ति थी।
बवाल बढऩे के बाद अब नेशनल टेस्टिंग एजेंसी(एनटीए) ने जांच के लिए फैक्ट फाइटिंग टीम गठित कर दी है। छात्राओं के अंडरगारमेंटस उतरवाए जाने को लेकर अब तक पांच हजार महिलाओं को गिरफ्तार किया जा चुका है। बता दें कि इस विवाद की शुरूआत एक 17 वर्षीया छात्रा के शिकायत पर दर्ज कराने के बाद हुई। छात्रा का आरोप है कि बीते रविवार को प्रवेश परीक्षा से पहले जांच के दौरान उसे इनर वियर हटाने को कहा गया था। मुरलीधरन और केरल के अन्य जनप्रतिनिधियों ने इस संबंध में शिक्षामंत्री धर्मेन्द्र प्रधान से मुलाकात की। इस बारे में केरल की शिक्षा और सामाजिक न्याय मंत्री डॉ आर बिन्दु ने भी केन्द्रीय शिक्षामंत्री को एक पत्र लिखा है।
तलाशी लेने वाली पांच महिलाएं गिरफ्तार: कोल्लम सेंटर में नीट परीक्षा से पहले तलाशी के दौरान जबरदस्ती कुछ छात्राओं के अंर्तवस्त्र उतरवाने वाली पांच महिलाओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस इन सभी से पूछताछ कर रही है। पुलिस के मुताबिक इनमें से तीन महिलाएं एनटीए की ओर से नियुक्त एक एजेंसी की कर्मचारी है। जबकि दो अन्य महिलाएं कोल्लम के अयूर में स्थित निजी संस्थान की ही कर्मचारी है।