सिंचाई विभाग की कारस्तानी, 26 नलकूप नहीं दे रहे है पानी

Listen to this article

एसडीओ नलकूप से पांच दिन लगातार बात करने का प्रयास किया गया लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया

खजनी। सिंचाई विभाग की कारस्तानी, क्षेत्र के 26 राजकीय नलकूप नहीं दे रहे हैं पानी। जहां बेलघाट में 07, वही खजनी विकासखंड क्षेत्र में 19 नलकूप खराब है। नलकूप खराब होने के कारण खेतों में रोपी गयी धान की फसल पानी के अभाव में अब सूखने लगी है। यहां तक की इंद्र की नाराजगी के कारण क्षेत्र के कई गांव के निजी नलकूप भी पानी देना बंद कर दिये हैं।
उल्लेखनीय है कि क्षेत्र के किसान उस समय खुशी से झूम उठे थे जब तत्कालीन मंत्री शारदा प्रसाद रावत एवं वीर बहादुर सिंह ने क्षेत्र में नलकूपों का जाल में विछवा दिया। किसानों ने सोचा था कि अब सिंचाई के सरकारी साधन मिल गये हैं और अब उनके खेतों में भरपूर फसल पैदा होगी। जिससे खाने के लाले नहीं पड़ेंगे, अच्छी पैदावार होने से बच्चों की पढ़ाई, लिखाई के साथ साथ उनके अन्य सपने भी पूरे होंगे। लेकिन उन्हें क्या पता था कि विभाग के लापरवाह अधिकारी एवं कर्मचारी उनके मंसूबों पर पानी फेर देंगे। बंद नलकूप बनवाने को अधिकारी व कर्मचारी जहमत नहीं उठाना चाह रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि कहीं बिजली फाल्ट तो कहीं तकनीकी खराबी के चलते नलकूप बंद पड़े हैं।
इस संबंध में जेई बेलघाट ने कहा कि हमारे यहां विद्युत के अभाव में सात नलकूप बंद हैं। हमें आज बिजली मिल जाय तो हम आज ही नलकूप चालू कर देंगे। यहां छह नलकूप 6 माह से अधिक हो गए विद्युत के अभाव में बंद है। वही एक नलकूप न एह माह से बंद है।
विभागीय सूत्रों के अनुसार खजनी विकासखंड क्षेत्र तीन जेई तैनात हैं, जहां एक माह से 19 नलकूप बंद हैं। कहीं तकनीकी खराबी, कहीं विद्युत का कारण बताया जा रहा है। इस संबंध में एक जेई ने बताया कि अभी हम नए आए हैं हमको इसके बारे में पूरी जानकारी नहीं है। बाकी अन्य दोनों लोगों से संपर्क नहीं हो पाया। वहीं एडीओ नलकूप द्वितीय से पांच दिन लगातार फोन से बात करने का प्रयास किया गया लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया और न ही कॉल बैक किया। धान की फसल को पानी न मिलने कारण क्षेत्र के किसानों के सारे सपने टूटते नजर आ रहे हैं। किसानों ने कहा कि क्षेत्र में तीन जेई तैनात होने के बावजूद भी हम लोगों की फसल सूख रही है। बता दें कि क्षेत्र में 182 राजकीय नलकूप हैं जिसमें 26 तकनीकी खराब एवं विद्युत की कमी के कारण बंद है।

 

559 में से 26 नलकूप बंद हैं: एक्स ई एन
एक्स ई एन नलकूप मनोज कुमार सिंह ने बताया कि जिले में कुल 559 नलकूप हैं जिसमें 26 बंद पड़े हैं। 13 विद्युत की वजह से और 13 तकनीकी खराबी। बंद 26 नलकूप किस क्षेत्र के हैं, कहां के हैं तथा उनसे नाम की जानकारी चाही गई इस पर उन्होंने फोन काट दिया। कई बार बात करने का प्रयास किया गया लेकिन फोन नहीं उठा। यह हाल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कर्मस्थली गोरखपुर के अधिकारियों का है तो अन्य जिलों के अधिकारियों का क्या हाल होगा?

सात नलकूप की है जानकारी: एसडीओ विद्युत
एसडीओ विद्युत मुकेश कुमार गुप्ता ने कहा कि अभी एक सप्ताह हुए मुझे ज्वाइन किये। पूरी जानकारी तो नहीं है लेकिन विभाग द्वारा 7 नलकूप विद्युत अभाव के कारण बंद होने की जानकारी दी गई है। मैं उसे जल्द ठीक करवाता हूं।