देवरिया में कपड़ा व्यवसायी का दिनदहाड़े अपहरण, पुलिस ने शुरू की छापेमारी

Listen to this article

देवरिया। जिले के बघौचघाट थाना क्षेत्र के नौगांव के रहने वाले रेडीमेड कपड़ों के कारोबारी मनोज कुशवाहा का रहस्य में हालत में अपहरण कर लिया गया। दिनदहाड़े हुई इस घटना के बाद पूरे जिले में सनसनी फैल गई। एसपी ने घटनास्थल का दौरा किया और पुलिस ने तत्काल बिहार सीमा पर छापेमारी शुरू कर दी।
अपहृत व्यवसायी के मोबाइल का अंतिम लोकेशन ट्रेस किया गया। उसके अनुसार पुलिस टीम बिहार की तरफ बढ़ रही है। पुलिस की टीमें लगातार छापेमारी कर रही हैं।
परिजनों के मुताबिक मनोज सुबह टहलने के लिए निकले थे लेकिन नौ बजे तक घर नहीं पहुंचे। इसके बाद परिजन इसकी सूचना स्थानीय थाने को दी। मनोज कुशवाहा का मोबाइल बंद है। बिहार बॉर्डर पर पुलिस की टीम लगाई गई है। दो टीम बिहार के लिए निकल चुकी है। बिहार की सीमावर्ती गांव एवं पगडंडी पर चेकिंग की जा रही है।
घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा बघौचघाट थाने पहुंचकर परिवार के लोगों से मुलाकात की। एसपी शर्मा ने बताया कि परिवार के लोगों ने मनोज कुशवाहा के गायब होने की सूचना दी है अपहरण की आशंका जताई जा रही है पुलिस टीम लगाई गई है उनकी मोबाइल फोन को सर्विलांस पर लगाया गया है मनोज का मोबाइल इस समय बंद है।
माता सुरसती देवी से दो बार हुई बात
परिजनों ने बताया कि सुबह करीब दस बजे दुकानदार मनोज ने दो बार अपनी माता सुरसती देवी के मोबाइल पर फोन किया था। अपनी माता को बताया कि कुछ लोगों ने मुझे उठा लिया है। कहां रखा है, इसके बारे में मुझे पता नहीं है। पापा से बात कराओ। इसके बाद से मोबाइल स्विच आफ आ रहा है। मौके पर एसपी संकल्प शर्मा ने पहुंचकर घटना की जानकारी ली। प्रभारी निरीक्षक उपेंद्र कुमार मिश्र दुकानदार मनोज के पिता को साथ लेकर बिहार के सिवान की तरफ निकल गए हैं। उनके अलावा एसओजी टीम को लगाया गया है।
इस बाबत पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि दुकानदार के अपहरण की सूचना मिली है। पुलिस की कई टीमें लगाई गई है।मौके पर पहुंचकर छानबीन की जा रही है।