दादी ने डांटा तो कुशीनगर से पैदल ही आत्महत्या करने पहुंची गोरखपुर: पिपराइच पुलिस ने किशोरी को ट्रेन के आगे कूदने से रोका

Listen to this article

 

गोरखपुर। कुशीनगर के हाटा के एक गांव की किशोरी दादी के डांट से क्षुब्ध होकर पैदल ही गोरखपुर चली आई। पिपराइच रेलवे स्टेशन पर पहुंचकर वह बैठी थी। तभी वहां खड़ी पीआरवी के पुलिसकर्मियों की नजर पड़ी। पुलिसकर्मी कुछ समझपाते तबतक एक ट्रेन आता देखकर किशोरी ने कूदने का प्रयास किया। लेकिन पुलिसकर्मियों ने उसे रोक कर उसकी जान बचा ली। उससे घरवालों के बारे में पूछताछ की और काउंसलिंग कराकर उसके परिजनों को सौंप दिया।
पीआरवी जवान सुधाकर यादव व चालक देवेन्द्र सिंह नें बताया कि भोर में पिपराइच रेलवे स्टेशन के पास गस्त पर थे । इस दौरान

प्लेटफार्म एक पर एक किशोरी काफी देर से अकेले बैठी थी। कुछ ही देर में ट्रेन आने की संभावना पर लड़की हरकत में आ गई । लगा कि यह आत्महत्या जैसा कदम उठाने वाली है। फिर रेल कर्मचारियों की मदद से किशोरी को पकड़ कर कड़ाई से पूछताछ की गई। काफी प्रयास के बाद किशोरी ने अपना नाम पता और पिता का नाम बताया। बताया कि उसके पिता सम्हारू सिलाई करते हैं। दो भाई सहित पूरा परिवार मुंबई में रहता है। कुछ दिन पहले ही वह अपने गांव कुशीनगर के हाटा स्थित गांव आई थी और दादी के साथ रह रही थी। बताया कि बुधवार की रात उसका दादी से झगड़ा हो गया। जिसके बाद वह घर से भाग कर पिपराइच स्टेशन पहुंच गई।