35 लाख के ठगी की आरोपी महिला गयी जेल: एम्स में नोकरी दिलाने के नाम पर की थी ठगी

Listen to this article

गोरखपुर। खोराबार पुलिस ने 35 लाख की ठगी करने वाली महिला को शनिवार को कोर्ट में पेश कर जेल भिजवा दिया।दरअसल इन महिलाओं ने भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में नौकरी दिलाने के नाम पर करीब 70 लोगों से 35 लाख रूपया वसूला था। पुलिस तभी से केस दर्ज किया था। शुक्रवार को पुलिस ने आरोपी मीरा पत्नी सुनील कुमार निवासी प्रयागराज को गिरफ्तार किया था।

पुलिस की पूछताछ में बड़गो निवासी मंजू गौड़ , मंजू शर्मा व जंगलचवँरी निवासी रमावती देवी खुद ठगी की शिकार पाई गई। इन लोगो ने अपना सहित अन्य लोगो का रकम मीरा को दे दिया था। इसलिए इन तीनो को शुक्रवार की देर रात थाने से घर भेज दिया गया। शनिवार को ठगी की शिकार महिलायें थाने पर तब तक डटी रही जब तक ठगी करने वाली महिला न्यायालय नही गयी।
बता दे कि मीरा शाहपुर थाना क्षेत्र के दरगहिया में किराए का कमरा लेकर एक रेडीमेड कपड़े के दुकान पर काम करती थी। इसी दौरान वह एम्स के एक डाक्टर के वहां उसका आना जाना हो गया था। इसका लाभ लेते हुए वह धनउगाही की थी। खोराबार क्षेत्र के नदुआ छावनी निवासी सरिता ने खोराबार थाने में दर्ज मुकदमे में बताया हैं। की 2/7/2021 को मीरा श्रीवास्तव ने मंजू गौड़ एवं मंजू शर्मा निवासी बड़गो , राधिका गौड़ , विमला निवासी महाबीर छपरा के सामने कहा कि मै एम्स में काम करती हूँ। वहां के अधिकारियों पंकज सिंह शोलंकी व विनोद से अच्छे सम्बंध हैं। सफाई कर्मी , वार्डव्याय ,पर्ची काऊंटर व कम्प्यूटर कैशियर के पद पर सबिंदा पर भर्ती करा दूगी।जिसके लिए 50 हजार से लेकर डेढ़ लाख तक लगेगा। न होने पर पैसा वापस हो जायेगा। मीरा की बातों पर विश्वास करके सरिता ने अपना व अन्य ग्यारह लोगों का 124860 रूपये मीरा के खाते में व 290000 नगद दी। बड़गो निवासी मंजू गौड़ ने अपना व सात अन्य लोगों का 495000 नगद तथा जंगलचवँरी निवासी रमावती ने अपना व 25 अन्य लोगों का 300000 मीरा को नगद दिया। इसी तरह हरपुर बुदहट थाना क्षेत्र के झकही निवासी शिवनारायण ने 300000 रूपये नगद मंजू शर्मा को दिया तथा इसने मीरा को दिया। इसी तरह वाराणसी निवासी चंदन ने 40000 मीरा को नगद दिया, यह शहर में किराए पर रहता हैं। इसी तरह राधिका ने अपना व अन्य आठ लोगों का 270000 नगद तथा बड़गो निवासी मंजू शर्मा ने अपना व 12 अन्य लोगों का 420000 नगद मीरा को दिया। लालमोहन व भाई महबूब ने 300000 नगद मीरा को दिये। 16/11/2021 तक ज्वाइनिंग कराने का वादा मीरा ने किया था। लेकिन नौकरी नहीं दिला पाई। समय बीत जाने पर अपना मोबाइल बंद कर फरार हो गई। मामले में खोराबार क्षेत्र के नदुआ छावनी निवासी सरिता की तहरीर पर पुलिस 1/12/2021को मीरा पत्नी सुनील के खिलाफ धारा 420 व 406 के तहत मुकदमा दर्ज की थी।