योगी सरकार ने नागपंचमी पर चिड़ियाघर का टिकट दर आधा किया

Listen to this article

अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस पर गोरखपुर में आयोजित कार्यक्रम में वन मंत्री ने की थी घोषणा

गोरखपुर। नागपंचमी के पावन पर्व पर योगी सरकार ने पूर्वांचलवासियों को खास सौगात दी है। नागपंचमी पर नाग देवता के दर्शन की प्राचीन परंपरा है और गोरखपुर के चिड़ियाघर में सर्पों, खासकर नाग देवता के दर्शन के लिए सरकार ने इस पर्व के दिन खिड़की से टिकट लेने पर 50 फीसद की रियायत की घोषणा की है।

देश भर में नागपंचमी का त्योहार मंगलवार को श्रद्धा एवं उल्लास के साथ मनाया जाएगा। इस खास मौके पर योगी सरकार ने शहीद अशफाक उल्ला खां प्राणी उद्यान (चिड़ियाघर गोरखपुर) का टिकट दर आधा कर दिया है ताकि अधिक से अधिक लोग चिड़ियाघर जाकर नाग देवता (कोबरा) के दर्शन कर सकें। मंगलवार (2 अगस्त) को चिड़ियाघर आने वाले पयर्टकों में से 12 साल की उम्र से अधिक और 18 साल की उम्र तक के बच्चों के लिए 12.50 रुपये और 18 साल से अधिक उम्र के पयर्टकों के लिए सिर्फ 25 रुपये चुकाने होंगे।

29 जुलाई को विश्व बाघ दिवस पर गोरखपुर को अंतरराष्ट्रीय सेमिनार की पहली बार मेजबानी मिली थी। इस कार्यक्रम में ‘बाघ संरक्षण के लिए अन्तर्सीमावर्ती सहयोग कार्यशाला के दौरान राज्यमंत्री ( स्वतंत्र प्रभार ) वन, पर्यावरण , जन्तु उद्यान एवं जलवायु परिवर्तन डॉ अरूण कुमार सक्सेना ने नागपंचमी पर प्राणी उद्यान का प्रवेश शुल्क आधा करने का निर्देश दिया था। उनकी घोषणा के अनुपालन में पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के अपर मुख्य सचिव मनोज सिंह ने नागपंचमी के शुभ अवसर पर आम जनमानस को सर्पों के दर्शन एवं उनसे सम्बन्धित अन्य ज्ञानार्जन के दृष्टिगत शहीद अशफाक उल्ला खां प्राणी उद्यान गोरखपुर के प्रवेश टिकट खिड़की से टिकट लेने पर 50 प्रतिशत की छूट देने का निर्णय लिया है। उन्होंने इस संबंध में लिखित दिशानिर्देश भी जारी कर दिए हैं। प्राणी उद्यान के निदेशक डॉ एच राजा मोहन ने बताया कि शासन की अनुमति मिल चुकी है। मंगलवार को प्राणी उद्यान का प्रवेश शुल्क आधा लिया जाएगा।