मंकीपाक्स के बढ़ते मामलों के बीच केंद्र सरकार की एडवाइजरी जारी

Listen to this article

नई दिल्ली, एजेंसी। देश में बढ़ते मंकीपाक्स के मामलों के बीच केंद्र सरकार ने एडवाइजरी जारी की है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने संक्रमित लोगों के साथ लम्बे समय तक सम्पर्क में रहने या उनसे मिलने पर मंकीपाक्स होने की बात कही है। एडवाइजरी के मुताबिक, संक्रमण से बचने के लिए हाथों को साबुन से धोने या सेनेटाइजर का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई है। वायरस के खतरे को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मंकीपॉक्स को पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी घोषित कर दिया है। भारत में भी इसके कई मामले सामने आ चुके हैं। मंकीपाक्स तीन से चार सप्ताह तक शरीर में रह सकती है। मंकीपाक्स होने पर सबसे पहले बुखार होता है। इसके साथ शरीर और मांसपेशियों में दर्द, सिरदर्द और लिम्फ नोड्स में सूजन आ जाती है। चेहरे पर दाने निकलते हैं जो धीरे-धीरे शरीर में फैलने लगते हैं।