5वीं मोहर्रम पर निकला मियां साहब इमामबाड़ा का शाही जुलूस

Listen to this article

गोरखपुर। मियां साहब इमामबाड़ा स्टेट से 5वीं मोहर्रम का शाही जुलूस गुरुवार को निकला। सबसे आगे इस्टेट का परचम था। उसके बाद मियां साहब अदनान फर्रुक अली शाह के निजी सुरक्षा गार्ड सफेद और लाल वर्दी पहने लंबी कतार में नजर आए। बैंड और शहनाई के साथ निजी सैनिकों ने जुलूस का आकर्षण रहे। घुड़सवार भी आगे-आगे चलते नजर आए। मियां साहब ने सफेद चमचमाती हुई पैरहन पहनकर जुलूस की अगुवाई की।
जिन रास्तों से मियां साहब के जुलूस को गुजरना था, सुबह से ही देखने वालों की भीड़ इक_ा होनी शुरु हो गई। जब मियां साहब का जुलूस लोगों के सामने से गुजरा तो इस दौरान उन्हें देखने के लिए लोगों को हुजूम उमड़ पड़ा। जुलूस के रास्ते में आने वाले सभी मकान की छतों तक लोग उमड़े हुए थे। सडक़ के किनारे दोनों ओर की छतों पर औरतों और बच्चों की जबरदस्त भीड़ देखने को मिली।
इन इलाकों से गुजरा जुलूस
5वीं मोहर्रम का रवायती जुलूस शहर के कई खास इलाकों से होकर गुजरा। इसकी शुरुआत इमामबाड़ा के पश्चिम फाटक से हुई वहां से बक्शीपुर, थवई का पुल, अलीनगर, चरन लाल चौक, जाफरा बाजार होता हुआ घासीकटरा स्थित कर्बला पहुंचा। जहां पर मियां साहब ने फातिहा पढ़ा और आराम किया। इसके बाद जुलूस घासीकटरा चौक, मिर्जापुर, साहबगंज, खूनीपुर होते हुए अंजुमन इस्लामियां पहुंचा। जहां थोड़ा आराम के बाद नखास चौक, कोतवाली होता हुआ इमामबाड़ा दक्षिण फाटक से इमामबाड़ा के अंदर दाखिल हुआ। मियां साहब और जुलूस का कई जगह इस्तकबाल हुआ।