विद्युत विभाग की लापरवाही से गई चार जानवरों की जान

Listen to this article

कर्मचारी पहले चेते होते तो नहीं जाती 4 जानवरों की जान: ग्रामीण

खजनी। तहसील क्षेत्र के क्षेत्र के ग्राम पंचायत भेउसा में विद्युत विभाग की लापरवाही से चार जानवरों की जान चली गई। मरने वालों में बछड़ा, कुत्ता, सियार एवं सांप शामिल है। घटना गुरुवार दिन व रात में घटित हुई है।
ग्रामीणों ने बताया कि तार लगभग 15 दिन से टूट कर गिरा है। तार टूटने की जानकारी फीडर पर तैनात जेई एवं स्थानीय कर्मचारियों दी गई थी। उसके बावजूद भी लापरवाही हुई। जिस कारण 4 जानवरों की जान चली गई। गुरुवार दिन में एक भैंस एवं उसके मालिक भी चपेट में आ गये थे, संयोग रहा कि विद्युत झटका देकर छोड़ दिया नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था।
इस संबंध में जेई बृजराज राम ने बताया घटना की जानकारी शुक्रवार सुबह हुई है। विद्युत ठीक करने के लिए मौके पर लाइनमैन को भेज दिया गया है। भाजपा नेता मृत्युंजय दुबे, त्रिलोकी नाथ दुबे, पंकज दुबे, कमलेश दुबे, शशि दुबे एवं यज्ञ आनंद दुबे समेत दर्जनों ग्रामीणों ने लापरवाह कर्मचारियों पर कार्रवाई की मांग की है। शाम पौने पांच बजे तक करंट से मरे जानवरों को बीच गांव से हटाया नहीं गया था। ग्रामीणों ने डीएम एवं एसडीएम से मरे जानवरों हटवाने की मांग की है। खबर लिखे जाने तक क्षेत्रीय लाइनमैन मौके पर पहुंचकर विद्युत प्रवाहित तार को अलग कर दिया था। बता दें कि सौभाग्य योजना के अंतर्गत संतृप्त गांव होने के बावजूद भी भेउसा में नंगे तार आज भी दौड़ रहे हैं। कहीं-कहीं एलएनटी तार लगे हैं लेकिन उसमें पावर नहीं है।