सिंघड़िया से युवक को अपहरण, पुलिस के दबाव में छोड़ा

Listen to this article

अपहरण की जानकारी के बाद स्थानीय लोगों ने कर दिया था हाईवे जाम

सिंघड़िया के पास करीब एक घंटे तक रहा देवरिय मार्ग जाम, मुकदमा दर्ज

मॉडल शॉप संचालक से मारपीट के मामले में जेल जा चुका है अपहृत युवक

गोरखपुर। सिंघड़िया इलाके में जिम के पास से शुक्रवार की देर शाम चार पहिया सवार मनबढ़ों ने एक युवक असलहे के बल पर अगवा कर लिया। इस घटना की जानकारी जैसे ही युवक के घरवालों को हुई उन्होंने स्थानीय लोगों के साथ सिघंड़िया के पास गोरखपुर-देवरिया मार्ग जाम कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस पर स्थानीय लोगों ने दबाव बनाना शुरू कर दिया। उनका कहना था जब तक अपहृत युवक उनके सामने नहीं होगा तब तक वह सड़क खाली नहीं करेंगे। पुलिस ने इस मामले में छानबीन शुरू की और एक अपहर्ता के परिवारीजनों पर दबाव बनाया तो अपहर्ताओं ने सहारा इस्टेट के पास युवक को छोड़ कर फरार हो गए। इसकी जानकारी के बाद स्थानीय लोगों ने जाम समाप्त किया। वहीं अपहृत युवक की तहरीर पर पुलिस ने आधा दर्जन युवकों पर केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी।

पुलिस के मुताबिक कैंट इलाके के सिंघड़िया मॉडल शॉप के पास रहने वाले 25 वर्षीय युवक ज्वाला निषाद को शुक्रवार की शाम पांच बजे वहीं पास स्थित जिम से आधा दर्जन युवकों ने अगवा कर लिया। असलहे के बल पर युवकों ने उसे चार पहिया गाड़ी में बैठा लिया और फरार हो गए। स्थानीय लोगों ने इसकी जानकारी ज्वाला के घरवालों को दी। घरवालों ने स्थानीय लोगों के साथ मिलकर सड़क जाम कर दिया।

सुचना पर एसपी सिटी कृष्ण कुमार विश्नोई के साथ ही कैंट, खोराबार और रामगढ़ताल थाने की पुलिस पहुंच गई। पुलिसवालों ने रास्ता से लोगों को हटाने का प्रयास किया लेकिन कोई भी हटने को तैयार नहीं था। जांच पड़ताल के दौरान पुलिस को कूड़ाघाट निवासी एक युवक की जानकारी हुई जो अपहर्ताओं में शामिल था। पुलिस ने उसके परिवारीजनों पर दबाव बनाया जिसके बाद अपहर्ताओं ने सहारा स्टेट के पास ज्वाला को छोड़कर फरार हो गए। इसकी जानकारी के बाद पुलिस उसे लेकर साथ आई और तब जाकर लोगों ने सड़क जाम समाप्त किया। बाद में ज्वाला को लेकर पुलिस कैंट थाने पर गई वहां उसकी तहरीर पर केस दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

यहां बता दें कि बीते 11 जुलाई को ज्वाला और उसके दोस्त की मॉडल शॉप संचालक के साथ मारपीट हुई थी। मॉडल शॉप संचालक की तहरीर पर केस दर्ज होने के बाद वह जेल गया था। बुधवार को ही जमानत पर छूट कर आया था। शुक्रवार की शाम को हुई अपहरण की पूरी घटना इसी विवाद से जोड़कर देखा जा रहा है। फिलहाल पुलिस जांच कर रही है।