झोलाछाप के इलाज से फिर हुई किशोर की मौत: फरार झोलाछाप के खिलाफ परिजनों ने दी तहरीर, सोमवार को खोराबार में युवक की हुई थी मौत

Listen to this article

गोरखपुर। खजनी कंदराइ निवासी लालचंद यादव के 14 वर्षीय बेटे प्रिंस यादव उर्फ गोलू की झोलाछाप के इलाज से मौत हो गई। उधर मौत के सूचना पर झोलाछाप फरार हो गया। वहीं परिजनों ने पुलिस को तहरीर दी है। गोरखपुर में दो दिन के भीतर यह झोलाछाप के इलाज से दूसरी मौत है।
जानकारी के अनुसार प्रिंस के पैर में 2 दिन पहले चोट लग गया था, जिसका इलाज उन्होंने कंदराई चौराहे पर क्लीनिक चलाने वाले झोलाछाप विजय प्रताप पासवान से कराया। झोलाछाप ने उसे चंद मिनटों में ही 3 इंजेक् शन लगाया। जिसके बाद प्रिंस के मुंह से झाग निकलने लगा। मरीज की गंभीर हालत को देखकर के झोलाछाप तुरंत फरार हो गया। उधर प्रिंस को लेकर उसके परिजन जिला अस्पताल के लिए निकल गए। लेकिन रास्ते में ही प्रिंस की मौत हो गई। परिजनों ने चौकी इंचार्ज महुआ डाबर को सूचना दिया लेकिन पहले तो उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की। बाद में इलाके के बसपा के वरिष्ठ नेता ने जब थानेदार को बताया तो कार्रवाई शुरू हुआ। जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची। वहीं मौके पर कंदराई गांव के ग्रामीणों की भीड़ जमी रहीं। वहीं किशोर की मां व अन्य परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। परिजनोंं ने झोलाछाप के खिलाफ कठोर से कठोर कानूनी कार्यवाही की मांग किया है।

झोलाछाप के इलाज से गोरखपुर में दो दिन के भीतर दूसरी मौत
सोमवार को भी खोराबार के कुसम्ही बाजार में बिना डिग्री के क्लीनिक चलाने वाले बंगाल निवासी एक झोलाछाप चंदन ने जंगल रामगढ़ उर्फ रजही निवासी राम आशीष के बवासीर का आपरेशन किया था। बाद में हालत गंभीर होने पर वह युवक को दूसरे अस्पताल में रेफ कर भाग गया। उधर रविवार की देर शाम युवक की मौत हो गई । जिसके बाद परिजनों ने सोमवार को हंगामा किया तो वह फरार हो गया। पुलिस उसके खिलाफ केस दर्ज कर उसकी तलाश कर रही है। वहीं इससे पहले भी पांच वर्ष पूर्व बांसगांव के झोलाछाप के इलाज से एक युवक की मौत हो गई थी। पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर उसे अरेस्ट किया था। तभी से वह झोलाछाप जेल में था।