नफीसा गैंग को पंजीकृत कर लगेगा गैंगस्टर: फर्जी मुकदमा दर्ज कराकर वसूली करता है गैंग,सामने आए 10 पीडि़त

Listen to this article

कार्रवाई की भनक लगते ही भागे आरोपित, कैंट पुलिस ने तेज की तलाश

गोरखपुर । फर्जी मुकदमा दर्ज कराकर वूसली करने वाले नफीसा गैंग पर पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है।कार्रवाई की भनक लगते ही आरोपी फरार हो गए हैं।पुलिस अधिकारियों ने गैंग को पंजीकृत करने के साथ ही सदस्यों पर गैंगस्टर की कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।
कैम्पियरगंज के रहने वाले व्यापारी खालिद की तहरीर पर कैंट थाना पुलिस ने सिद्धार्थनगर जिले के लोटन थाना क्षेत्र के खीरिडिहा गांव की नफीसा उसके गैंग की सदस्य बिंद्रावती, सोनी, आरती, इंद्रावती और तारा चौहान तथा अधिवक्ता माधव तिवारी के साजिश के तहत झूठा मुकदमा दर्ज कराकर रंगदारी मांगने का मुकदमा दर्ज कराया है।यह गिरोह कोर्ट में प्रार्थना पत्र देकर दुष्कर्म, लूट, छेड़खानी, दलित उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराकर समझौता कराने के नाम पर वसूली करता है।गिरोह के सदस्य अब 10 से अधिक लोगों पर फर्जी मुकदमा दर्ज करा चुके हैं।एसपी सिटी कृष्ण कुमार विश्नोई ने बताया कि फर्जी मुकदमा दर्ज कराने वाले गिरोह पर कार्रवाई होगी।

जिले में सक्रिय है कई गिरोह

जिले में फर्जी मुकदमा दर्ज कराकर वूसली करने वाला कई गिरोह सक्रिय है।एक गिरोह पर कैंट व दूसरे के खिलाफ गीडा थाने में मुकदमा दर्ज है।दोनों ही गिरोह फर्जी मुकदमा दर्ज कराकर पीडि़त से लाखों रुपये वसूले थे।गीडा में रहने वाले बुजुर्ग पर तो दुष्कर्म के पांच मुकदमे दर्ज करा दिए थे।