प्रधान के देवर का हत्यारोपी अरेस्ट: 14 अगस्त की शाम गोली मारकर हुआ था मर्डर, घरवालों ने अंतिम संस्कार से किया था इंकार

Listen to this article

गोरखपुर। सहजनवां इलाके के पनिका गांव निवासी धीरज पांडेय उर्फ गुड्डू पांडेय की हत्या के नामजद आरोपी डुमरी नेवास निवासी प्रभाकर वर्धन राज उर्फ नीतू को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया। पुलिस ने उसे मंगलवार को कोर्ट में पेश कर जेल भिजवा दिया। एसपी नार्थ मनोज कुमार अवस्थी ने बताया कि पकडे गए आरोपी का नाम मृतक धीरज ने मौत से पहले बनाए गए एक वीडियो में बताया था। पुलिस अन्य नामजद आरोपियों की तलाश में दबिश दे रही है। जल्द ही सभी को अरेस्ट कर लिया जाएगा।

 

उधर पुलिस की मौजूदगी में सोमवार की शाम करीब चार बजे शव घर पहुंचा। शव पहुंचते ही कोहराम मच गया। स्वजन ने अपनी मांगो को लेकर शव का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया। पुलिस प्रशासन के अफसर स्वजन को मनाने मे कई घंटे मशक्कत करते रहे, लेकिन बात नहीं बनी। देर शाम मौके पर विधायक प्रदीप शुक्ला के आश्वासन पर परिजन माने। उसके बाद मंगलवार सुबह इटार स्थित आमी नदी के तट पर विधायक व पुलिस प्रशासन के मौजूदगी में शव का अंतिम संस्कार किया।

यह है मामला
क्षेत्र के पनिका निवासी धीरज पांडेय उर्फ गुड्डु पांडेय को रविवार शाम डुमरी निवास ईदगाह के पास पनिका रोड पर बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोली मार दिया था। उपचार के लिए ले जाते समय रास्ते मे लूचूई के पास उनकी मौत हो गई थी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। उधर, मृतक के चचेरे भाई व प्रधान पति विनोद पांडेय के तहरीर पर सतेन्द्र राज उर्फ झीनक, सर्वजीत राज उनके लडक़े प्रभाकर वर्धन राज उर्फ नीटू व हर्षवर्धन राज के खिलाफ हत्या सहित अन्य धारोंओ मे केस दर्ज कर एक आरोपित सर्वजीत राज को गिरफ्तार कर लिया है। अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी मे पुलिस टीम ताबड़तोड़ छापामारी कर रही है।

सरकारी नौकरी की मांग
परिजन धीरज की पत्नी अंजली को सरकारी नौकरी, 50 लाख रुपये नकद, फरार आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए शव का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया और दरवाजे पर शव रोक दिया। पुलिस प्रशासन के अफसरों के मनाने के बाद परिजन नहीं माने। जबकि उनकी मांगो को तत्काल लिखित डीएम के पास भेजा गया। उसके बाद देर शाम विधायक प्रदीप शुक्ला ने घर पहुंचकर परिजनों को मुख्यमंत्री से मिलाकर उनकी मांग पूरा करने का आश्वासन दिया, तब जाकर परिजन मंगलवार सुबह इटार गांव के पास आमी नदी के तट पर अंतिम संस्कार के लिए माने। पिता ज्वाला पांडेय ने मुखाग्नि दी।

धीरज पांडेय की गोली मारकर हत्या करने के बाद क्षेत्र मे तनाव काफी बढ़ गया है। जिसको लेकर पुलिस प्रशासन को अनहोनी का डर सता रहा है। जातिय संघर्ष को देखते डुमरी व पनिका गांव मे पीएसी व पुलिस बल के जवान तैनात किए गए हैं। सोमवार को शव पोस्टमार्टम से मिलने के बाद सुचना पर घघसरा, चडऱाव, डुमरी सहित चौराहे छावनी में तब्दील हो गए थे। शव के साथ सहजनवा व गीडा थाना की पुलिस मुस्तैद रहकर घर पहुंचाया। क्षेत्र मे हत्या के बाद पैदा हुए जातिय संघर्ष को लेकर पुलिस सतर्कता बरत रही है।